Skip to content

टमाटर फ्लू (Tomato Flu) : क्या है, लक्षण क्या हैं, बचने का उपाय, इलाज

टमाटर फ्लू (Tomato Flu) : क्या है, लक्षण क्या हैं, बचने का उपाय, इलाज

कोरोना संक्रमण के कहर के बीच ही यानि कि कोरोना महामारी का खतरा अभी पूरी तरह से टला भी नहीं है कि एक और नई बीमारी ने लोगों में दहशत फैला दिया है। अब केरल में एक दूसरे प्रकार के संक्रमण के बढ़ने की खबर है। विभिन्न अस्पतालों से आ रही जानकारियों के अनुसार केरल में टोमैटो फ्लू नामक एक दुर्लभ वायरल  तेजी से फैल रही है। 

टमाटर फ्लू (Tomato Flu) एक किस्म का वायरल इंफेक्शन है जो की कई राज्यों में फैल रहा है, और इसे एक  rare infection माना जा रहा है। 

तो चलिए, आज इस लेख में हम आपको टोमैटो फ्लू (Tomato Flu) के बारे में सारी जानकारी देंगे  जैसे कि –

  • क्या है टोमैटो फ्लू?
  • क्या है टोमैटो फ्लू के लक्षण?
  • टोमैटो फ्लू क्यों होता है?
  • क्या है टोमैटो फ्लू से बचने के उपाय ?
Tomato Flu

क्या है टोमैटो फ्लू?

यह एक दुर्लभ वायरल बीमारी है। आंत पर हमला करने वाले शिगेला बैक्टीरिया के कारण यह संक्रमण होता है।

इस वायरल इन्फेक्शन में मरीज के शरीर पर लाल लाल चकत्ते, त्वचा में जलन और डीहाइड्रेशन आदि देखने को मिलता है। 

 इसी कारण से इसे टोमैटो फ्लू नाम दिया गया है। इस संक्रमण के मामले सबसे अधिक पांच साल या उससे कम उम्र के बच्चों में देखने को मिलते हैं। 

टोमैटो फ्लू को टमाटर बुखार भी कहा जाता है। टमाटर बुखार वायरल बुखार है या चिकनगुनिया या डेंगू बुखार, इसके बारे में अभी भी चर्चा जारी है। 

क्या है टोमैटो फ्लू के लक्षण?

टोमैटो फ्लू या टोमैटो फीवर  में

  •  मरीज की त्वचा में जलन और dehydration जैसी परेशानी हो सकती हैं। 
  • इससे शरीर के कई हिस्सों में छाले पड़ जाते हैं और ये चकत्ते, छाले आमतौर पर लाल रंग के होते हैं।
  • शरीर पर छाले निकलने के साथ तेज बुखार और बदन में तेज दर्द की समस्या भी हो सकती है। 
  • कुछ मेडिकल रिपोर्ट के मुताबिक थकान, जोड़ों में दर्द, पेट में ऐंठन, मतली, उल्टी, दस्त, खांसी, छींक, नाक बहना, तेज बुखार और शरीर में दर्द भी हो सकता है।
  • हाथों, घुटनों, कूल्हों की त्वचा का रंग बिगड़ना भी इस रोग के लक्षण है। 
  • इसके अन्य लक्षणों में खांसी, छींक और नाक बहना भी शामिल है।
  • इसमें बच्चों को अज्ञात बुखार सा अनुभव होता है।

टोमैटो फ्लू क्यों होता है?

अधिकांश cases में संक्रमितों ने food poisoning की बात की है इसीलिए स्वास्थ्य विभाग लोगों को पानी और भोजन की स्वच्छता को लेकर विशेष सावधानी बरतने की सलाह देती है। एक्सपर्ट का मानना है कि बिना धुले फलों और सब्जियों के सेवन के कारण यह संक्रमण हो सकता है। फलों और सब्जियों में शिगेला बैक्टीरिया के होने की संभावना अधिक होती है।

इस बीमारी के कारणों के बारे में अभी भी कोई सटीक जानकारी नहीं है और स्वास्थ्य विभाग अभी भी टमाटर बुखार के मुख्य कारणों की जांच कर रहे हैं। रिपोर्टों के अनुसार, अभी तक भारत में सिर्फ दक्षिण के कुछ हिस्सों में टमाटर फ्लू देखा गया है, परन्तु समय पर सावधानी नहीं की गई तो यह अन्य क्षेत्रों में फैल सकता है।

अन्य पढ़े: मंकीपॉक्स वायरस क्या है?

क्या है टोमैटो फ्लू से बचने के उपाय ?

  • टोमैटो फ्लू के चपेट में आने पर, अगर बच्चे में इस बीमारी के लक्षण नज़र आते हैं, तो तुरंत डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए। 
  • एक्सपर्ट्स बच्चे के शरीर को अच्छी तरह हाइड्रेटेड रखने की सलाह देते हैं तथा boiled पानी देने को कहते हैं।
  •  त्वचा पर बनने वाले चकत्ते या फफोले को खरोंचे या फोड़े नहीं। 
  • इसमें स्वच्छता और हाइजीन का पालन करना अति आवश्यक है। 
  • संक्रमित व्यक्ति से परिवार के सदस्य और दोस्त उचित दूरी बनाकर रखें।
  • बुखार लंबे समय तक ना चले इससे बचने के लिए रोगियों को उचित आराम करना चाहिए। 
  • सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि इसके लक्षण दिखते ही तुरंत डॉक्टर की सलाह पर उचित इलाज लेना जरूरी है। 

क्या है टोमैटो फ्लू का इलाज?

  • अन्य प्रकार के फ्लू की ही तरह टोमैटो फ्लू भी संक्रामक होता है।
  • क्योंकि यह एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में तेजी से फैल सकता है इसलिए डॉक्टर्स के अनुसार जिनमें भी संक्रमण की पुष्टि की जाती है उन्हें isolate कर देना चाहिए। 
  • Infected patients  के पर्याप्त आराम और स्वच्छता का विशेष ध्यान रखने की आवश्यकता होती है। 
  • संक्रमण कुछ समय बाद अपने आप ही ठीक हो जाता है। इस दौरान liquids का सेवन करके  hydration की समस्या से बचाव करते रहना बहुत आवश्यक हो जाता है।

टोमैटो फ्लू के बारे में पूछे गए कुछ प्रश्न

Q. टोमैटो फ्लू होने के बाद किन किन चीजों को हमे ध्यान रखना चाहिए ?

Ans: टोमैटो फ्लू होने के बाद निम्नलिखित चीजों का ध्यान रखे –
patient को पानी कि कमी बिल्कुल न होने दें।
गुनगुने पानी से ही केवल नहलाएं।
patient को पूरा आराम से और unnecessary किसी के contact में आने से रोके।
छालों को बिल्कुल ना फोड़े।

Q. हम खुद को टोमैटो फ्लू से कैसे बचाएं?

Ans: आप खुद को टोमैटो फ्लू से निम्नलिखत तरीकों से बचा सकते हैं –
healthy diet ले।
साफ और स्वच्छ भोजन करें।
किसी भी infected व्यक्ति से दूर रहे।
बॉडी को हमेशा hydrated रखे।
घर के पास साफ सफाई रखे।
टोमैटो फ्लू का कोई भी लक्षण दिखे तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएं, लापरवाही ना करें।

निष्कर्श

Covid 19 से अभी देश निकला भी नहीं कि tomato flu ने  भारत में दस्तक दे दी है।

अब तक 146 मामले सामने आ चुके हैं। जिनमें से 80 से अधिक मामले सिर्फ केरल के हैं। टोमैटो फ्लू का प्रकोप सबसे ज्यादा असर पहले केरल के दक्षिणी कोल्लम जिले के कुछ क्षेत्रों जैसे नेदुवथुर, आंचल और आर्यनकावु आदि से शुरू हुआ था, परन्तु अब यह कर्नाटक और तमिलनाडु में भी बढ़ता नजर आ रहा है।

जो रिपोर्ट स्थानीय सरकारी अस्पतालों से आई है उन सभी मामले में बच्चों की उम्र पांच साल से कम है। 

आशा है इस लेख में दी हुई जानकारी आपको टोमैटो फ्लू से बचाएगी और स्वस्थ रखेगी।

nv-author-image

Priyanka Sachan

यह उत्तर प्रदेश, कानपूर के रहने वाली है। इन्होने एम्.बी.ए किया हुआ है। पेशे से यह एक गृहणी है साथ ही साथ लिखने में भी इन्हें बहुत रूचि है।ये शिक्षा, पैसे कमाए,टेक्नोलॉजी पर आधारित आर्टिकल लिखती है। Follow Her On Facebook - Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published.