Skip to content

Anchoring Script in Hindi (एंकरिंग कार्यक्रम की शुरुआत हिन्दीमे)

दोस्तों ! आज के समय में Anchoring एक शानदार प्रोफेशन के रूप में निखर कर सामने आ रही है। आज कई लोग Anchoring के फील्ड में अपने करियर में ग्रोथ कर रहे हैं। कई लोगों को Anchoring करना बेहद पसंद होता है और वे अन्य लोगों के बीच मंच पर खड़े होकर Anchoring करना चाहते हैं लेकिन कभी-कभी Anchoring Script in Hindi के बारे में नहीं जानने के कारण Anchoring नहीं कर पाते हैं। दोस्तों यदि आपकी रूचि Anchoring करने तथा Anchoring Script लिखने में भी है, तो हम आज के आर्टिकल में हम आपके लिए लेकर आए हैं Anchoring Script in Hindi से जुड़े वे सभी जानकारी, जो एक उद्घोषक या एंकर के लिए किसी मंच को संबोधित करने से पहले जानने की जरूरत है। इस आर्टिकल में हम आपको बताएंगे कि कैसे एक सुंदर और अच्छी Anchoring Script in Hindi लिखकर और उसे पढ़कर लोगों का ध्यान आप संबोधन के जरिए अपनी ओर खींचे रख सकते हैं। 

Anchoring Script in Hindi | एंकरिंग कार्यक्रम की शुरुआत

Anchoring Script in Hindi

इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आप किसी भी स्कूल, कॉलेज, मंच और सार्वजनिक समारोह में बेझिझक बिना घबराए आप अपनी बात लोगों तक पहुंचा पाएंगे। दरअसल आज हम आपको किसी भी सामाजिक समारोह में एक अच्छा भाषण या एक अच्छी Anchoring Script in Hindi कैसे लिखें पढ़ें और बोलें, इस बारे में बताएंगे।

कई ऐसे लोग हैं, जो अपने स्कूल या कॉलेज के फंक्शन में Anchoring Script in Hindi पढ़ना या फिर भाषण देना चाहते हैं पर मंच पर चढ़कर क्या बोलना है, कैसे बोलना है, इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं होती। तो आइए जानते हैं किसी कार्यक्रम के दौरान एंकर के तौर पर कार्यक्रम की शुरुआत कैसे करें, जिससे आपके बातों का प्रभाव श्रोताओं के कानों और आंखों में समा जाए। अच्छी तरह से Anchoring करने के लिए आपको बस नीचे दिए हुए कुछ बातों का ध्यान रखना पड़ेगा –

1. बेहतर सक्रीप्ट का चयन करें :

एक एंकर के लिए Anchoring Script in Hindi किसी भी कार्यक्रम को संबोधित करने के लिए सबसे अहम हिस्सा होता है, जो उस महफिल में जान लाने और दिलचस्प बनाने के लिए बेहद जरूरी भी होता है। इसलिए किसी भी मंच या समारोह को संबोधित करने के लिए उद्घोषक के पास एक बेहतर और सुंदर Anchoring Script होना बेहद जरूरी है। इसलिए एक बेहतर स्क्रिप्ट का चयन करें। अगर ऐसा ना हो तो दर्शकों की रूचि और सम्मेलन का माहौल खराब हो सकता है।

हम आपको शुरू से बताने वाले हैं कि एक एंकर को Anchoring के दौरान बोलते वक्त किन बातों के ध्यान रखने की जरूरत है, जिससे एक एंकर के तौर पर लोगों के बीच आपके बातों का एक गहरा प्रभाव बन सके और लोगों मे आपकी तारीफ के चर्चे भी हों।

अन्य पढ़े:

2. Anchoring Script की बेहतर शुरुआत करें :

अगर आप किसी समारोह या पार्टी को संबोधित करने जा रहे हैं, तो सबसे पहले आपको अपनी Entry बेहतर बनाने के लिए एक लाजवाब Introduction की जरूरत पड़ेगी। किसी भी एंकर के लिए उसका इंट्रोडक्शन स्पीच सबसे मजबूत कड़ी होता है, जिससे सामने बैठे लोगों को एहसास हो जाता है कि एंकर के बातों से आगे काफी मजा आने वाला है। इसलिए जरूरी है कि किसी कार्यक्रम के दौरान अपनी कही गई बातों में आप उन शब्दों का इस्तेमाल करें जो दर्शकों के बीच एक बेहतर इंप्रेशन छोड़ जाए। 

एक वक्ता के तौर पर आप दर्शकों से ऐसी बातें करें जिससे दर्शकों का ध्यान आपकी बातों से बिल्कुल ना हटे, वह आपके द्वारा कही गई बातों का प्रभाव महसूस करें और आनंद महसूस करें। आप अगर चाहे तो दर्शकों के बीच मनोरंजन का भाव पैदा करने के लिए शायरियों का भी इस्तेमाल कर सकते हैं। आप कुछ ऐसी लाइनें कह सकते हैं-

“नमस्कार दोस्तों ! मैं आपका होस्ट निशांत स्वागत करता हूं आज के इस शानदार मौके पर, जिसे खास आपके मनोरंजन के लिए सजाया गया है।”

3. अतिथियों के स्वागत के साथ उनका परिचय दें :

दोस्तों, चाहे कोई भी समारोह कहीं भी क्यों ना हो, अतिथि या चिफ गेस्ट तो आते ही हैं। दीपज्योति के बाद आप अतिथि के तौर पर आए हुए लोगों को सम्मानित कर मुख्य अतिथियों का स्वागत करें। ऐसे में यदि आप अतिथियों के स्वागत के साथ उनका परिचय देते हैं, तो यह सामने बैठे दर्शकों को और अधिक आकर्षित करेगा। उसके बाद होने वाले संस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन की पेशकश करें।

4. दर्शकों में मनोरंजन का भाव बनाए रखें :

जैसे ही आपकी इंट्रोडक्शन खत्म हो जाए, उसके बाद आपको एक अलग अंदाज में ऐसा कुछ प्रदर्शन करने की जरूरत है, जिससे दर्शक आपकी ओर आकर्षित हों। जैसे कि आप हेलो तथा नमस्कार जैसे शब्दों का इस्तेमाल कर अपने दर्शकों का सत्कार करें। 

परफॉर्मेंस होने के बाद दर्शकों से जोरदार तालियों की मांग करें और नेक्स्ट परफॉर्म करने वाले को बुलाने की घोषणा करें। मंच पर Anchoring के दौरान इस बात का ख्याल रखने की जरूरत है की आपकी आवाज बेहतर होनी चाहिये, ऐसा ना होने की वजह से दर्शकों का ध्यान आप से हट जाएगा और लोगों को मनोरंजन में रुचि नहीं आएगी। इसीलिए हमेशा एक लाजवाब इंट्रोडक्शन बनाइए और दर्शकों के बीच आकर्षण का केंद्र बने रहिए। दर्शकों मे परफॉर्मेंस के साथ-साथ आपकी बातों का भी लगातार असर बना रहें। इसके लिए उनके मनोरंजन को दो गुणा बढ़ाने के लिए शेरो शायरी का भी इस्तेमाल करें।

जैसे कि –

” जिंदगी के रास्ते पर मिलते हैं लोग अनेक,

पर कोई आप जैसा नहीं मिला जो हमसफर बन सके।”

इस तरह की शायरी कहकर आप दर्शकों में थोड़े-थोड़े अंतराल के बाद मनोरंजन भरे ऊर्जा पैदा कर सकते हैं और इन सब के बीच जोरदार तालियों की गुजारिश भी कर सकते हैं… महफ़िल में बैठे अपने दोस्तों के नाम।

5. कार्यक्रम में कलाकारों का मजेदार परिचय दें :

समारोह में भाग लेने वाले सभी प्रतिभागियों का एक एक कर कार्यक्रम में स्वागत करें और उन्हें प्रदर्शन के लिए आमंत्रित करें। एंकर के तौर पर वार्षिक समारोह देखने आए अतिथियों, दर्शकों तथा प्रदर्शनकारियों का मनोरंजन तथा हौसला बढ़ाते रहें। आप कार्यक्रम को आगे बढ़ाने के दौरान अपने साथी कलाकारों जैसे संगीतकार, जजेस, डांसर्स आदि सभी का परिचय दें। उन सभी कलाकारों के काम की सराहना भी करें और सभी परफोर्मेंस की भी तारीफ करें। आपके इस मजेदार परिचय से सामने बैठे दर्शक गणों का उत्साह भी डबल हो जाता है और वह मनोरंजन समारोह अटेंड करते हैं।

6. शेरो-शायरी का दौर बनाए रखें :

यदि आप मंच पर खड़े हैं और सभी दर्शक आपको देख रहे हैं तो इसके लिए सबसे जरूरी है लोगों का ध्यान अपनी ओर बनाए रखना। जी हां दोस्तों यदि आप Anchoring के फील्ड में अपना बेस्ट देना चाहते हैं तो रंगमंच पर शेरो शायरी का दौर बनाए रखें। अब यदि आप सोच रहे हैं कि किस समय पर शायरी करना बेहतर होगा तो आपको बता दें जब कोई परफॉर्म करने के लिए स्टेज पर आए उनकी नाम की घोषणा करने से पहले आप एक-दो शायरी कह सकते हैं, जिससे तालियों की गूंज बरकरार रहेगी और लोगों का ध्यान भी आपकी तरफ बना रहेगा।

7.परफॉर्म करने वाले का रोमांचक स्वागत करें :

यदि आप स्टेज पर उन लोगों को आमंत्रित कर रहे हैं, जो डांस, गाना, नाटक, भाषण या किसी और चीज के लिए आने वाले हैं, तो उसके लिए आप कुछ ऐसे वाक्यों का इस्तेमाल कर सकते हैं –

“तो चलिए दोस्तों बुलाते हैं आज के पहले परफॉर्मर को, स्वागत कीजिए शिवानी का, जो आपके सामने पेश करने वाली हैं गणेश वंदना। जोरदार तालियों के साथ स्वागत करें इनका….”

“बिना वक्त गंवाए हम बुलाते हैं हमारे अगले परफॉर्मर को, जिनके डांस आपके मन को मोह लेंगे। तो स्वागत कीजिए मनीषा गोसाई का।”

8. पूरी ऊर्जा के साथ समाप्ति करें :

किसी भी एंकर के लिए किसी प्रोग्राम को खास बनाने के लिए सिर्फ शुरुआत अच्छी होनी जरूरी नहीं होती है बल्कि उसके समापन को भी खास बनाना होता है। आखिर में रंगारंग कार्यक्रमों की समाप्ति के बाद एंकर के रूप में सभी दर्शकों का अभिनंदन कर, उनका शुक्रिया अदा कर और सम्मिलित अतिथियों का आभार व्यक्त कर आयोजन समाप्ति की घोषणा करें और वह भी पूरी ऊर्जा के साथ।

यह थे Anchoring Script in Hindi के अंतर्गत आने वाली कुछ ऐसे महत्वपूर्ण जानकारी और तरीके, जिनका इस्तेमाल कर आप एक बेहतर एंकर के तौर पर बहुत अच्छी Anchoring कर सकते हैं। यहां Anchoring से जुड़ी बताई गई तमाम जानकारियां पाठकों के भविष्य के लिए एक बेहतर विकल्प साबित होगी।

FAQs

Q. स्टेज पर Anchoring की शुरुआत कैसे करें?

Ans: स्टेज पर Anchoring की शुरुआत अपने शानदार इंट्रोडक्शन के साथ करें, जिससे पहली ही इंप्रेशन में आप दर्शकों के चहेते बन जाएं और पूरे समारोह तक उनका ध्यान आप पर केंद्रित रहे।

Q. एंकर का हिंदी अर्थ क्या होता है?

Ans: एंकर को मुख्य रूप से उद्घोषक, संचालक या प्रस्तुतकर्ता भी कहा जाता है।

Q.स्टेज पर अतिथियों के स्वागत में क्या कहें?

Ans: यदि आप स्टेज पर अतिथियों का स्वागत करना चाहते हैं, तो उनकी तारीफ में दो से तीन लाइन जरूर कहें और फिर दर्शकों से जोरदार तालियों की मांग करते हुए स्टेज पर अतिथियों का स्वागत करें।

Conclusion On Anchoring Script in Hindi

आज हम इस आर्टिकल में Anchoring Script in Hindi For College Function मैंने वोह साड़ी तरीका बताने के कशिश कि है जिसके मदत से आप एक बहुत अच्छा Anchoring Script तयार कर पाओ।

Anchoring Script एइसा होना चाहिए जो लोगो बोर न करके मनोरंजन दे पाए। अगर आप हमारे द्वारा बताये हुए तरीके से अचोरिंग स्क्रिप्ट रेडी करते हो तो एक बहुत अच्छा एंकरिंग कार्यक्रम की शुरुवात कर सकते हो।

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है हमारे द्वारा बताये गए यह जानकारी आपको पसंद आया होगा। हम आपके कमेंट के इंतज़ार कर रहे है ।।

nv-author-image

Shambhavi Mishra

यह कानपुर, उत्तर प्रदेश की निवासी हैं। इन्होंने हिंदी साहित्य में परास्नातक किया हुआ है। इन्हें शिक्षा, बिज़नस से संबंधित विषयों पर काफी अनुभव है और इन्ही विषयों पर लेख लिखती है। Follow Her On Facebook - Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *