A

Architecture क्या है, कैसे बने? Architecture Full details in hindi

Architecture kya hai in hindi

Architecture क्या है : टेक्नोलॉजी के बढ़ते दौर में आज हम एक से बढ़कर एक इमारतें, मजबूत बांध और शॉपिंग मॉल्स देख सकते हैं। उनकी डिजाइनिंग और इंफ्रास्ट्रक्चर काफी एडवांस और आकर्षक होती है। इनका निर्माण काफी प्लानिंग और डिजाइनिंग के साथ किया जाता है। किसी भी इमारत को बनाने के लिए सबसे पहले योजना बनाई जाती है और इसके बाद ही इमारतों का निर्माण होता है। इस पूरी प्रक्रिया की पढ़ाई को Architecture कहा जाता है। इसकी पढ़ाई करने वाले को ही Architect कहते हैं। एक Architect उस इमारत को बनाने से पहले बेहतरीन तरीके से उसकी प्लानिंग करते हैं और डिजाइन तैयार करते हैं इसके बाद ही उस इमारत को बनाने के लिए आगे के काम होते हैं।

Architecture इंजीनियर कैसे बने?

Architecture इंजीनियर बनने का करियर ऑप्शन भी काफी अच्छा होता है, जिसमें मुख्य रूप से ऐसे लोग जा सकते हैं जिन्हें इमारतों के नक्शे, उसकी डिजाइन आदि बनाने में रुचि होती है। Architecture इंजीनियर बनने के लिए सबसे पहले Architecture की डिग्री होनी आवश्यक होती है क्योंकि यह एक प्रकार का कोर्स होता है। Architecture का कोर्स करने के बाद किसी भी आर्किटेक्ट के पास अन्य कई विकल्प होते हैं जिससे वह प्राइवेट अथवा सरकारी किसी भी सेक्टर में आसानी से जॉब पा सकता है।

जो विद्यार्थी Architecture बनना चाहते हैं, उनके लिए 12वीं कक्षा में अंग्रेजी और गणित विषयों के साथ पास होना अनिवार्य किया गया है। इतना ही नहीं इसके अलावा अंग्रेजी और गणित विषयों के साथ साथ कुल 50% अंक भी होने अनिवार्य है तभी इसमें एडमिशन हो सकता है।

इसके अलावा Architecture बनने के लिए एक अन्य विकल्प भी शामिल है। इसके लिए यदि किसी विद्यार्थी ने दसवीं के बाद डिप्लोमा किया है, तो वह Architecture बन सकते हैं। इसके लिए उन्हें 12वीं के रिजल्ट की जरूरत नहीं पड़ती है।

Architecture में आने वाले Courses क्या हैं?

किसी भी Architecture के लिए यह आवश्यक है कि उन्हें सॉफ्टवेयर का ज्ञान होना चाहिए। इसके अंतर्गत ऑटोकैड या Architecture डिजाइन तैयार करने वाले सॉफ्टवेयर की जानकारी होनी जरूरी है। Architecture में केवल डिग्री प्राप्त करने से काम नहीं बनता है। इसके अंतर्गत आने वाले प्रमुख कोर्सेज निम्नलिखित हैं –

  • Architecture in Diploma
  • Bachelor Of Architecture (B.Arch.)
  • Master Of Architecture (M.Arch)
  • Ph.D

Architecture in Diploma :

यदि कोई विद्यार्थी दसवीं कक्षा पास कर एक बेहतर आर्किटेक्ट बनना चाहते हैं तो सबसे पहले उन्हें किसी मान्यता प्राप्त पॉलिटेक्निक कॉलेज में Architecture in Diploma में एडमिशन लेना होता है। इसके लिए शैक्षणिक योग्यता केवल 10वीं पास होती है। इससे केवल 3 वर्ष में आर्किटेक्ट बन सकते हैं। 

राज्य सरकार द्वारा आयोजित किए गए पॉलिटेक्निक प्रवेश परीक्षा के आधार पर विद्यार्थियों का चयन पॉलिटेक्निक कॉलेज में आसानी से हो जाता है। पॉलिटेक्निक कॉलेज सरकारी और प्राइवेट दोनों होते हैं। यदि विद्यार्थी का चयन रैंक के मुताबिक सरकारी कॉलेज में हो जाता है तो इसके लिए काफी कम फीस लगती है लेकिन यदि विद्यार्थी प्राइवेट कॉलेज से Architecture की पढ़ाई करते हैं, तो उन्हें फ़ीस देकर पढ़ाई करनी होती है। इससे 3 वर्ष में आर्किटेक्ट बनने का मौका मिल जाता है।

Bachelor of Architecture (B. Arch) :

Bachelor of Architecture का कोर्स करने के लिए 5 साल का समय लगता है। इसके लिए विद्यार्थी 12वीं कक्षा पास होना चाहिए और सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि उसके विषयों में मुख्य रूप से फिजिक्स, केमिस्ट्री और गणित होना अनिवार्य है। इसके बाद ही विद्यार्थी Bachelor of Architecture की पढ़ाई कर सकते हैं।

Master of Architecture (M. Arch) :

Bachelor of Architecture करने के बाद कई लोग नौकरी पेशे से जुड़ जाते हैं लेकिन कुछ लोग आगे की पढ़ाई के लिए Master of Architecture का कोर्स करते हैं। Master of Architecture का कोर्स करने वाले विद्यार्थीयों को केवल 2 साल में ही आर्किटेक्ट बनने का मौका मिलता है लेकिन इसके लिए विद्यार्थी का Bachelor of Architecture कोर्स किया होना चाहिए।

Ph.D :

Master of Architecture का कोर्स कर चुके विद्यार्थी Ph.D कर आर्किटेक्ट बनने के अलावा कई अन्य विकल्प चुन सकते हैं। इसमें उन्हें कई मौके मिलते हैं, जो उनके करियर के लिए अच्छा विकल्प माना जाता है। इसे पूरा करने के लिए विद्यार्थी को 4 वर्ष का समय लगता है।

जो विद्यार्थी Architecture बनना चाहते हैं, उन्हें इसकी डिग्री लेते समय सॉफ्टवेयर भी सीखना चाहिए। इसके जरिए कोई भी Architecture इंजीनियर बेहतर डिजाइन करने के काबिल बन जाता है और बेहतरीन तरीके से इमारतों के डिजाइनिंग करता है। Architecture मे रूचि रखने वाले जो विद्यार्थी सॉफ्टवेयर सीखे होते हैं, उनके विकल्प भी अधिक नजर आते हैं। इसके लिए कुछ प्रमुख सॉफ्टवेयर के नाम नीचे दिए गए हैं, जो किसी भी विद्यार्थी को बेहतर आर्किटेक्ट बनने के लिए जरूरी होते हैं –

  • Photoshop
  • InDesign
  • SketchUp
  • Autocad
  • V-Ray
  • 3D Studio Max
  • Revit
  • Hand Drawing

Architecture की पढ़ाई के लिए कितनी फीस लगती है?

Architecture का कोर्स मुख्य रूप से प्राइवेट और सरकारी दोनों प्रकार के संस्थानों से पूरा किया जा सकता है। यदि किसी विद्यार्थी का सरकारी कॉलेज में दाखिला हो जाता है तो इसके लिए उसे ₹1,50000 से ₹3,50000 तक लग जाता है। 

वहीं दूसरी ओर यदि Architecture की पढ़ाई प्राइवेट कॉलेज से की जाए तो सरकारी कॉलेज की तुलना में काफी अधिक फीस लगती है। अलग-अलग जगह में प्राइवेट कॉलेज की फीस भी अलग-अलग है। यह मुख्य रूप से कॉलेज के द्वारा उपलब्ध कराई जाने वाली सुविधाओं और वहां की पढ़ाई पर निर्भर करता है। औसत रूप से प्राइवेट कॉलेज में Architecture की पढ़ाई के लिए ₹5,00000 से लेकर ₹6,00000 तक की फीस ली जाती है।

यह भी पढ़े:

Architectural Engineer की सैलरी कितनी होती है?

किसी भी Architectural Engineer की सैलरी अन्य इंजीनियर की तुलना में अधिक होती है। यदि कोई विद्यार्थी कोर्स करने के दौरान प्लेसमेंट के समय ही नौकरी ले लेते हैं तो उनकी शुरुआती सैलरी 30,000 से 40,000 रुपए प्रतिमाह होती है। इस कोर्स में मास्टर डिग्री करने के बाद यदि कोई विद्यार्थी जॉब सेक्टर में जाना चाहते हैं तो उनकी सैलरी और भी बढ़ सकती है।

कई विद्यार्थी स्नातक की डिग्री प्राप्त करने के बाद प्लेसमेंट के जरिए जॉब ले लेते हैं और इसके साथ ही Architectural के क्षेत्र में मास्टर डिग्री प्राप्त करने के लिए आगे पढ़ाई जारी रखते हैं। किसी भी प्राइवेट सेक्टर की बात करें तो Architectural Engineer महीने की ₹15,000 से लेकर ₹1 लाख रुपए तक या उससे अधिक कमाई कर सकता है।

विदेशों में Architectural Engineer की सैलरी कितनी होती है?

भारत की तुलना में विदेशों में आर्किटेक्चर की मांग अधिक होने के साथ-साथ सैलरी भी बहुत अधिक है। कुछ प्रमुख देशों की लिस्ट निकाली जाए तो इसमें कई ऐसे देश शामिल हैं, जहां आर्किटेक्ट की सैलरी आसमान छूती है। 2017 में निकाले गए आंकड़ों के मुताबिक उन कुछ देशों के नाम और वहां के आर्किटेक्ट की सैलरी को निम्नलिखित रुप से देखा जा सकता है –

  • कनाडा में एक Architectural Engineer की Salary C$64,527 है, जो भारतीय मुद्रा में 32,91,639 रूपए है।
  • दुबई में एक बेहतर आर्किटेक्ट की सैलरी लगभग 139,934 AED है, जो भारतीय मुद्रा में 24,75,227 है।
  • सिंगापुर में Architectural Engineer की कमाई लगभग S$51,242 यानी कि 24,55,889 रूपए है।
  • ऑस्ट्रेलिया में आर्किटेक्ट की Salary लगभग AU$61,727 और भारतीय मुद्रा में 30,31,864 रूपए है।
  • कुवैत में एक आर्किटेक्ट लगभग  9,382 KWD यानी कि 20,16,857 रूपए की कमाई करता है।

भारत के Best Architecture Colleges कौन-कौन से हैं?

Architecture की पढ़ाई के लिए भारत में एक से बढ़कर एक कॉलेज है जिनमें कुछ प्रमुख कॉलेजों की सूची में निम्नलिखित कॉलेज शामिल हैं –

  • School of Planning and Architecture, Delhi
  • Sir JJ College of Architecture, Mumbai
  • Department of Architecture, NIT Tiruchirappalli 
  • Indian Institute of Technology (IIT), Roorkee
  • CEPT University, Ahmedabad
  • Chandigarh College of Architecture, Chandigarh
  • Indian Institute of Technology (IIT), Kharagpur
  • Anna University, Chennai
  • College of Engineering, Thiruvananthapuram
  • Birla Institute of Technology, Pilani, Rajasthan
  • Jadavpur University, Kolkata
  • National Institute of Technology (NIT), Hamirpur

Architecture Engineer बनने के बाद करियर विकल्प कौन-कौन से हैं?

Architecture Engineer बनने के बाद Architect के सामने कई करियर विकल्प आते हैं, जिनमें कुछ प्रमुख निम्नलिखित हैं –

  • Architecture Engineer बनने के बाद आर्किटेक्ट खुद की आर्किटेक्ट कंपनी खोल सकते हैं।
  • इसके अलावा वे प्राइवेट सेक्टर में Architecture Engineer के रूप में नौकरी कर सकते हैं।
  • Architecture Engineer का Architect, Structural Engineer या Town Planner के पोस्ट पर काम करना एक बेहतर विकल्प है।
  • Architecture Engineer इस कोर्स को पूरा करने के बाद Planning And Development Surveyor भी बन सकते हैं।
  • Architecture Engineer अपनी उच्च शिक्षा के बाद Historic Buildings Inspector या Conservation Officer का काम भी कर सकते हैं, जो उनके लिए अच्छा करियर ऑप्शन होगा।
  • Architecture Engineer किसी मान्यता प्राप्त Architecture Engineering College में असिस्टेंट प्रोफेसर यानी कि Higher Education Lecturer के रूप में काम करने पर भी एक अच्छी कमाई कर सकते हैं।

FAQs

प्रश्न 1. Architecture कितने साल का कोर्स होता है?

उत्तर : Architecture 5 साल का होता है, जो एक अंडरग्रैजुएट कोर्स है।

प्रश्न 2. Architecture में क्या काम होता है?

उत्तर : Architecture में किसी भी इमारतों, बांध, मॉल्स आदि बनाने की प्लानिंग, डिजाइनिंग और निर्माण का काम होता है।

प्रश्न 3. Architecture में एडमिशन के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए?

उत्तर : Architecture में एडमिशन के लिए कक्षा 12वीं में अंग्रेजी और गणित विषय के साथ 50% अंक चाहिए। इसके अलावा कक्षा दसवीं के विद्यार्थी डिप्लोमा के बाद भी इसमें एडमिशन ले सकते हैं।

Shambhavi Mishra

शाम्भवी मिश्रा" कानपुर, उत्तर प्रदेश की निवासी हैं। इन्होंने हिंदी साहित्य से परास्नातक उत्तीर्ण किया है। ये हिन्दीमेसीखे ब्लॉग के एक सीनियर राइटर है और अपने अनुभवों को इस ब्लॉग के माध्यम से आपलोगो तक शेयर करती हैं। Follow me on Facebook
View All Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *