Skip to content

अर्जुन तेंदुलकर का जीवन परिचय (Arjun Tendulkar Biography in hindi)

अर्जुन तेंदुलकर भारत के सबसे प्रसिद्ध क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के पुत्र है। अपने पिता सचिन तेंदुलकर के विपरीत अर्जुन तेंदुलकर दाएँ हाथ के बल्लेबाज और बाएँ हाथ के गेंदबाज हैं, इसके साथ ही वह अच्छे fielder भी हैं। वह एक ऑल राउंडर  खिलाडी हैं। भारत में उन्हें जूनियर तेंदुलकर के रूप में संबोधित किया जा रहा है। उनकी ख्वाहिश एक पेशेवर क्रिकेटर बनने के साथ ही अपने पिता के सपने को पूरा करना है। इसके लिए  वह तैयारियों में लगे रहते हैं और विश्व के प्रसिद्ध क्रिकेटर बनना चाहते हैं। 

IPL 2022 में Mumbai Indians ने अर्जुन तेंदुलकर को 30 लाख में खरीदा है। 

अर्जुन तेंदुलकर का परिचय (ARJUN TENDULKAR BIOGRAPHY IN HINDI)

अर्जुन तेंदुलकर का जीवन परिचय
नामअर्जुन तेंदुलकर
जन्म24 सितम्बर, 1999
आयु23 वर्ष
जन्म स्थानमुंबई, महाराष्ट्र
गृह नगरमुंबई, महाराष्ट्र
प्रसिद्धिसचिन तेंदुलकर का बेटा
पिता का नामसचिन तेंदुलकर
माता का नामअंजली तेंदुलकर
बहनसारा तेंदुलकर
कद5 फीट 10 इंच
वजन60 किलोग्राम
आँखों का रंगकाला
बालों का रंगकाला
शारीरिक बनावटसीना- 36 इंच, कमर- 30 इंच,
बाइसेप्स13 इंच
राशितुला
नागरिकताभारतीय
धर्महिन्दू
स्कूलिंगधीरूभाई इंटरनेशनल स्कूल, मुंबई
व्यवसायभारतीय क्रिकेटर
पसंदीदा क्रिकेटरसचिन तेंदुलकर
कोच या मेंटरसचिन तेंदुलकर, महला जैवर्धने
शुरुवातT-20,2021
वैवाहिक स्थितिअविवाहित
नेट वर्थ21 करोड़ (वर्ष 2021) 

अर्जुन तेंदुलकर का प्रारम्भिक जीवन

अर्जुन राजापुर सारस्वत मराठी ब्राह्मण परिवार से हैं। उनके पिता को ‘क्रिकेट के गॉड फादर’ के रूप में जाना जाता है। वह बी-टाउन के लोकप्रिय स्टार किड में से एक हैं। अर्जुन अपने पिता की तरह बड़ी प्रसिद्धि हासिल करना चाहते है।

अर्जुन तेंदुलकर भारत के महान  दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर के बेटे हैं। सचिन तेंदुलकर ने अब क्रिकेट से सन्यास ले लिया है। पूरी दुनिया उनके क्रिकेट की दिवानी है। अर्जुन की माँ अंजलि तेंदुलकर हैं जो पेशे से बाल रोग विशेषज्ञ है। अर्जुन तेंदुलकर की एक बड़ी बहन सारा तेंदुलकर है, जो की उनसे 2 साल बड़ी हैं। अर्जुन तेंदुलकर क्रिकेट में बहुत रुचि रखते हैं और national level tournament  में भाग लेते हैं। अर्जुन तेंदुलकर बहुत ही स्मार्ट, हैंडसम और टैलेंटेड लड़का है।

अर्जुन अपने पिता की तरह क्रिकेट बहुत अच्छा खेलते हैं। उनके पिता भी चाहते हैं कि उनका बेटा एक अच्छा क्रिकेटर बने और अपने देश के लिए खेलते हुए उन्ही की तरह भारत का नाम रौशन करें। 

अर्जुन तेंदुलकर की शिक्षा 

मुम्बई के धीरुभाई अम्बानी इंटरनेशनल स्कूल, जहाँ पर ज्यादातर अमीर लोगों के बच्चे ही पढ़ते है, एक ऐसा स्कूल जो बच्चों को लाइम लाइट से बचाने के लिए मीडिया से दूरी भी बनाकर रखता है, ताकि बच्चे अपना ध्यान पढाई में लगा सके, अर्जुन तेंदुलकर ने भी अपनी स्कूली शिक्षा यहीं से ग्रहण की है।    

अर्जुन तेंदुलकर का करियर 

बचपन से ही जब अर्जुन 8 साल के थे तब से ही उनके पिता सचिन ने उन्हें क्रिकेट कोचिंग क्लब में डाल दिया था। 22 जनवरी 2010 को पुणे में अंडर 13 टूर्नामेंट में अर्जुन तेंदुलकर ने अपना पहला मैच खेला था। जनवरी 2011 में  उन्होंने अपना पहला राष्ट्रीय स्तर का खेल पुणे में केडेन्स ट्राफी टूर्नामेंट में खेला था। नवम्बर 2011 में जमनाबाई नरसी स्कूल के खिलाफ धीरूभाई इंटरनेशनल स्कूल के लिए अपनी बढ़िया गेंदबाजी का परिचय देते हुए अर्जुन तेंदुलकर ने 22 रन देकर 8 विकेट लिया था और नरसी स्कूल को हराकर जीत हासिल की थी। अर्जुन तेंदुलकर अपने स्कूल टीम के कप्तान रहें हैं। 

उन्होंने अपना पहला शतक जून 2012 में गोरेगांव सेंटर के खिलाफ क्रॉस मैदान में अंडर- 14 मैच में खर जिमखाना के लिए खेलते हुए उन्होंने अपनी क्षमता का प्रदर्शन करते हुए लगाया था। इसके बाद उन्हें मुम्बई क्रिकेट एसोसियेशन द्वारा घोषित संभावित अंडर 14 में ऑफ़ सीजन ट्रेनिंग कैम्प के लिए चुना गया था। फिर उन्हें 2014 में BCCI टूर्नामेंट अंडर -14 मैच में पश्चिमी जोन लीग मैच मुम्बई में खेलने के लिए चुना गया। जिसमें मुम्बई की टीम ने गुजरात की टीम पर जीत हासिल की थी। 24 जनवरी 2014 को ही अर्जुन ने मुम्बई अंडर 14 में खेलने की अपनी आयु सीमा पूरी कर ली थी। 

पिछले कुछ वर्षों में अर्जुन की गति और सटीकता में बहुत सुधार हुआ है। वर्ष 2017-18 में कूच बिहार ट्रॉफी में उन्होंने मुंबई अंडर-19 में खेलते हुए सिर्फ 5 मैचों में ही 19 विकेट लिए और सभी के होश उड़ा दिए।

उन्होंने अपनी बल्लेबाजी के साथ भी एक्सपेरिमेंट किया है। एडिलेड में CCI-11 के लिए उन्होंने ओपनिंग की और 48 रन बनाए।

अर्जुन को एमसीसी अंडर-19 टीम में इंग्लैंड में नामीबिया के खिलाफ खेलने के लिए भी चुना गया था। उन्होंने इसमें चार विकेट लिए। इसके पश्चात् ही इस युवा खिलाड़ी ने 2019 में श्रीलंका के खिलाफ अंडर-19 में भारत के लिए खेलना शुरू किया। 

इसके बाद मुम्बई अंडर -19 के एक दिवसीय टीम के लिए उन्हें चुना गया। 

फरवरी 2021 में उन्हें मुंबई इंडियन के द्वारा इंडियन प्रीमियर लीग 2021 से पहले आईपीएल नीलामी में खरीदा गया था।  

सितंबर 2021 में पहली बार उनको मुंबई की सीनियर टीम में चुना गया था। उन्हें मुंबई के 22 सदस्य सैयद मुश्तक अली ट्रॉफी में भी शामिल किया गया था।  फरवरी 2022 में उन्हें मुंबई इंडियन टीम द्वारा खरीदा गया। 

अर्जुन तेंदुलकर के क्रिकेट करियर की शुरुआत 

सचिन प्रसिद्ध खेल व्यक्तित्व होने के बावजूद भी कभी भी अपने बेटे के करियर के चयन में उन्होंने दबाव नहीं बनाया। उन्होंने अर्जुन को अपने करियर को चुनने की पूरी आजादी दी। क्रिकेट तो अर्जुन के खून में ही है, इसलिए उन्होंने क्रिकेट को ही अपना करियर चुना। अर्जुन अपने पिता के साथ मुम्बई में क्रिकेट का अभ्यास करते हैं। अर्जुन कई क्रिकेट क्लब संघ के सदस्य भी हैं। वह क्रिकेट का सर्वश्रेष्ठ कोचों से ट्रेनिंग भी प्राप्त कर रहे हैं।              

अर्जुन तेंदुलकर की लव लाइफ 

अर्जुन तेंदुलकर अविवाहित हैं और सिंगल लाइफ जी रहे हैं। उनकी गर्लफ्रेंड या लव लाइफ के बारे में कोई भी जानकारी उपलब्ध नहीं है।

अन्य पढ़े:

FAQ:

Q. अर्जुन तेंतुलकर कि उम्र क्या है?

Ans: अर्जुन तेंतुलकर कि उम्र 23 वर्ष है।

Q. अर्जुन 2021 आइपीएल मैच  क्यों नहीं खेल सके?

Ans: A. अर्जुन चोट के कारण 2021 के आईपीएल से उन्हें बाहर जाना पड़ा था।

nv-author-image

Priyanka Sachan

यह उत्तर प्रदेश, कानपूर के रहने वाली है। इन्होने एम्.बी.ए किया हुआ है। पेशे से यह एक गृहणी है साथ ही साथ लिखने में भी इन्हें बहुत रूचि है।ये शिक्षा, पैसे कमाए,टेक्नोलॉजी पर आधारित आर्टिकल लिखती है। Follow Her On Facebook - Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published.