Skip to content

C plus plus in Hindi(C++ क्या हैं जाने पूरी बाते हिंदी में )

C plus plus in Hindi-C++ क्या हैं , C++ के इतिहस ,C++ को क्यों शिखना जरुरी हैं ? आजके इस लेख में C++ से जुडी हार एक बाते जाननेवाला हूँ |

आजके इन कंप्यूटर दुनिया में आप programing language से वाकिफ नही हैं , एइसा तो हो ही नही सकता | कही न कही तो आपने C++ के नाम जरुर सुना होगा | एइसे में C++ को लेकर मन में प्रश्न उठना भी आम बात हैं |

C++ के बारे में बताने से पहले आपको कंप्यूटर या सिस्टम के बारे में कुछ बाते जानना बहुत जरुरी हैं | कंप्यूटर एक मशीन हैं और मशीन ह्यूमन language समझ नही सकता हैं | कंप्यूटर या कोई भी इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट को instruction के जडियेचलाया जाता हैं |

C plus plus in Hindi

Technical instruction को programe कहा जाता हैं | यानि कंप्यूटर को programe के द्वारा instruction दिए जाते हैं और इन programe को बनाने के लिए जो language use किया जाता हैं उसे programing language कहा जाता हैं | Programe human द्वारा बनाया जाता हैं और उन्हें programer कहा जाता हैं |

C++ भी एक programing language हैं , जिससे कंप्यूटर की बड़े बड़े software , system software , Application को develop किया जाता हैं | C++ के जरिये multimedia software,video editing software , किसी भी तरह की oprating system software , Andorid ,IOS के application develop किया जा सकता हैं |

C plus plus in Hindi

C++ एक programming language हैं जिसे middle level programming language के नाम से भी जाना जाता हैं |C++ की develop साल 1979 से लेकर 1983 के बिच किया गया था | C++ ,C programming language के ही उन्नत रूप हैं |

C और C++ language simliar कहा जा सकता हैं | C programming language में OOP (OBJECT ORINTED PROGRAMING) support नही करते हैं और इसी के फलसरूप C languge में ही OOP को जुड़कर इसके उन्नत रूप बनाया गया हैं , जिसका नाम रखा गया C ++ |

OOP से वाकिफ नहीं हो तो बता दू कि OOP एक एइसा system हैं जिसमे बहुत सारे कोड को क्लास के के भीतर किया जाता हैं , जिससे होता ये की programer programe को class में difine करके रखते हैं , जिससे जब चाहे programe को class के जडिये call किया जा सकता हैं | इससे programer को बार बार एक ही code को लिखने की जरूरत नही पड़ता | OOP के जडिये बहुत कम समय में ज्यादा code , fast loading और कम error होने की संभाबना रहते हैं |

आज सभी programing language OOP support करते हैं और सारी काम OOP में ही किया जाता हैं |

C++ से जूड़ी इतिहास (History of C++)

C++ , C का ही उन्नत रूप हैं , जिसका develop साल 1979 से 1983 के बीच बेल लेबोरेटरीज में Bjarne Stroustrup के द्वारा किया गया था | C++ OBJECT ORINTED PROGRAMING language हैं जिससे ज्यादातर hardware से रिलेटेड software develop करने के उपोयोग किया जाता हैं | C++ को पहले C with class के नाम से जाना जाता था हलाकि बाद इसका नाम C++ रखा गया |

शुरुवाती समय में जब C++ की devlop हुयी यह सिर्फ LINUX system पर ही काम करते थे | बाद में उन्नत करते करते , अब यूनिक्स, लिनक्स, विंडोज जैसी सभी system पर काम करती हैं |

जब C++(Wiki) को लांच किया उसके समट ओर भी 67 language थे लेकिन लोगो के द्वारा C++ language चुना गया क्युकी बाकि और language के तुलना में C++ को शिखना आसान हैं | C language की ज्यादातर syntex english भाषा से लिया गया हैं |

आज भी C++ बहुत लोकप्रिय हैं | किसी भी प्रकार के programing language शिखने से पहले आपको जरुर C को शिखना चाहिए |

C++ programing का एक उदाहरन

include

main()
{
cout << “Hello World!”;
return 0;
}
Output:

Hello, world!

C plus plus in Hindi(C++

C ++ के features(C++ के विशेषता )

आज भी C ++ के लोकप्रियता बहुत हैं | लोगो के द्वारा प्रसंद किये जाने वाले programing language में C ++ का नाम भी आता हैं , क्युकी यह सिखने में आसान हैं और कोई भी तरह के software devlop किया जा सकता हैं | C++ को लोगो के द्वारा पसंद आते हैं , इसके कुछ विशेषता भी हैं |जिसके बारे में निचे बताया गया हैं |

  • C++ बहुत ही simple programing language हैं | इसको learn करने की समय अवधि बाकि language के तुलना में बहुत कम हैं |
  • C++ Object Orianted concept को support करता हैं और OOP concept भी बहुत आसान हैं |
  • C++ बहुत पुराणी powerfull OOP programming lanaguage हैं |
  • C++ कोई तरह के libery भी provide करता हैं , जिससे programer को हेल्प होता हैं |
  • C++ Compiler based programing language हैं |
  • बाकि lanaguage के तुलना में C++ काफी fast loading हैं |
  • समय के साथ साथ C++ को update करता गया हैं |
  • बाकि सारे programing lanaguage के तुलना में C++ बहुत ही आसान हैं |
  • C++ सिंटेक्स based programing lanaguage हैं और बहुत सारे सिंटेक्स english lanaguage से लिया गया हैं |
  • किसी भी तरह के programing lanaguage को सिखने से पहले C++ को जरुर सीखना चाहिए |

C++ सीखना क्यों महत्वपूर्ण हैं (Importance of C++)

आधुनिक समय में सभी programing lanaguage OOP को support करता हैं और ज्यादातर काम OOP में ही करना पसंद करता हैं | एइसे में programer को OOP के concept को समजना बहुत जरुरी हैं | C++ OOP based lanaguage हैं जोकि OOP के concept को बहुत अच्छी तरह से समझता हैं |

C++ बहुत ही पुराणी OOP based programing language हैं , जहा पर बहुत आसान और सरल भाषा में OOP के concept होता हैं | जिससे progrmer के leraning स्पीड को तेज़ करता हैं |

C++ एक powerfull language होने के वजह से इससे कोई बड़ी बड़ी software develop किया जा सकता हैं |

किसी भी तरह के programing language को समझने से पहले अगर आपको C++ के concept clear होगा तो आपके शिखने के स्पीड को 2 X कर देगा |

C++ सरल और powerful होने के लिए इसे सरकार के किसी भी कंप्यूटर caurse में provide करवाया जाता हैं | Like – PGDCA , DCA,MCA जैसे कोई भी caurse में C++ को add किया जाता हैं |

अत: अगर programer बनने के शॉक रखने हो तो आपको जरुर C++ शिखना चाहिए | C++ को शिखने के बाद JAVA , C # जैसे हार्ड language को भी शिखना आसान बना देगा |

C++ के उपयोग (Uses of C++)

  • C++ एक highly powerful programing lanaguage में से एक हैं जिससे गेम के develop में भी use किया जाता हैं |
  • C++ से embed drive भी बनाया जाता हैं |
  • Image Optimizer software भी C++ से बनाया जा सकता हैं |
  • Graphics User interphase application भी develop किया जा सकता हैं |
  • वेब ब्राउज़र develop करने में भी C++ का use किया जा सकता हैं |
  • किसी भी language के complier develop करने में भी C++ के develop कर सकते हैं |
  • Operating system जैसे की विंडोस , लिनक्स आदि के मेजर पार्ट को develop करने में भी C++ के use किया जाता हैं |
  • Medical या engineering फ़ील्ड के application में भी C++ के use किया जाता हैं |
  • गूगल जैसे सर्च इंजन के back end में भी C++ के use किया जाता हैं |
  • ओर programing language के create करने में भी C++ के use आता हैं |

C++ को कहा से सीखे (How to learn C++ )

C++ एक एइसा language हैं जो पुराणी होने वावजूद भी लोगो में पोपुलर हैं | यह वाकी ओर language के concept को समझाने में भी काम आते हैं | एइसे में इसे शिखने की चाहती भी बहुत हैं |

हम आपको बता दे कि C++ को आप online ओर offline दोनों तरीखे से ही सिख सकते हो | Online platform के बात करू तो online caurse , Youtube video या गूगल के मदत से भी सिख सकते हो |

offline platform में आप किसी भी institution के जडिये सिख सकते हो |

C plus plus in Hindi पोस्ट को लेकर हमारा अंतिम राय

Programing language के डिमांड दिन व् दिन बड़ते गए हैं | आज देश जितने भी तरक्की कर रहे हैं , लोग इन्टरनेट पर आ रहे हैं और Programing language के सीखने के भी संख्या बढता जा रहा हैं |

अगर आप भी Programing language सीखना चाहते हो , Programmer बनाना चाहते हो तो , मुझे लगता हैं कि आपको c++ से शुरुवात करना चाहिए |

वाकी अगर किसी तरह के जानकारी हमसे छुट गए हो तो आप हमसे कमेंट के द्वारा पूछ सकते हो या गूगल भी कर सकते हो |

उम्मीद हो ये जानकारी आपको पसंद आयी होंगी | लेख को लेकर आपके राय कमेंट पर जरुर लिखे |

Frequently Asked Questions

Q. What is C++ in Hindi?

Ans:C++ एक middle level programming language हैं जिससे जिसका use software बनाने के लिए किया जाता हैं |

Q. How I learn C++ in Hindi?

Ans : C++ को online या offline caurse के द्वारा आसानी से सिख सकते हैं |

Q. Who has discovered C++ in Hindi ?

Ans:C++ को develop 1979 से 1983 के बीच बेल लेबोरेटरीज में Bjarne Stroustrup के द्वारा किया गया था |

nv-author-image

Suraj Debnath

असम के निवासी सूरज देबनाथ इस ब्लॉग के संस्थापक है। इन्होने विज्ञान शाखा में स्नातक किया हुआ है। इन्हें शेयर मार्किट, टेक्नोलॉजी, ब्लोगिंग ,पैसे कमाए जैसे विषयों का काफी अनुभव है और इन विषयों पर आर्टिकल लिखते आये है। Join Him On Instagram- Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published.