C plus plus in Hindi(C++ क्या हैं जाने पूरी बाते हिंदी में )

C plus plus in Hindi-C++ क्या हैं , C++ के इतिहस ,C++ को क्यों शिखना जरुरी हैं ? आजके इस लेख में C++ से जुडी हार एक बाते जाननेवाला हूँ |

आजके इन कंप्यूटर दुनिया में आप programing language से वाकिफ नही हैं , एइसा तो हो ही नही सकता | कही न कही तो आपने C++ के नाम जरुर सुना होगा | एइसे में C++ को लेकर मन में प्रश्न उठना भी आम बात हैं |

C++ के बारे में बताने से पहले आपको कंप्यूटर या सिस्टम के बारे में कुछ बाते जानना बहुत जरुरी हैं | कंप्यूटर एक मशीन हैं और मशीन ह्यूमन language समझ नही सकता हैं | कंप्यूटर या कोई भी इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट को instruction के जडियेचलाया जाता हैं |

C plus plus in Hindi

Technical instruction को programe कहा जाता हैं | यानि कंप्यूटर को programe के द्वारा instruction दिए जाते हैं और इन programe को बनाने के लिए जो language use किया जाता हैं उसे programing language कहा जाता हैं | Programe human द्वारा बनाया जाता हैं और उन्हें programer कहा जाता हैं |

C++ भी एक programing language हैं , जिससे कंप्यूटर की बड़े बड़े software , system software , Application को develop किया जाता हैं | C++ के जरिये multimedia software,video editing software , किसी भी तरह की oprating system software , Andorid ,IOS के application develop किया जा सकता हैं |

C plus plus in Hindi

C++ एक programming language हैं जिसे middle level programming language के नाम से भी जाना जाता हैं |C++ की develop साल 1979 से लेकर 1983 के बिच किया गया था | C++ ,C programming language के ही उन्नत रूप हैं |

C और C++ language simliar कहा जा सकता हैं | C programming language में OOP (OBJECT ORINTED PROGRAMING) support नही करते हैं और इसी के फलसरूप C languge में ही OOP को जुड़कर इसके उन्नत रूप बनाया गया हैं , जिसका नाम रखा गया C ++ |

OOP से वाकिफ नहीं हो तो बता दू कि OOP एक एइसा system हैं जिसमे बहुत सारे कोड को क्लास के के भीतर किया जाता हैं , जिससे होता ये की programer programe को class में difine करके रखते हैं , जिससे जब चाहे programe को class के जडिये call किया जा सकता हैं | इससे programer को बार बार एक ही code को लिखने की जरूरत नही पड़ता | OOP के जडिये बहुत कम समय में ज्यादा code , fast loading और कम error होने की संभाबना रहते हैं |

आज सभी programing language OOP support करते हैं और सारी काम OOP में ही किया जाता हैं |

C++ से जूड़ी इतिहास (History of C++)

C++ , C का ही उन्नत रूप हैं , जिसका develop साल 1979 से 1983 के बीच बेल लेबोरेटरीज में Bjarne Stroustrup के द्वारा किया गया था | C++ OBJECT ORINTED PROGRAMING language हैं जिससे ज्यादातर hardware से रिलेटेड software develop करने के उपोयोग किया जाता हैं | C++ को पहले C with class के नाम से जाना जाता था हलाकि बाद इसका नाम C++ रखा गया |

शुरुवाती समय में जब C++ की devlop हुयी यह सिर्फ LINUX system पर ही काम करते थे | बाद में उन्नत करते करते , अब यूनिक्स, लिनक्स, विंडोज जैसी सभी system पर काम करती हैं |

जब C++(Wiki) को लांच किया उसके समट ओर भी 67 language थे लेकिन लोगो के द्वारा C++ language चुना गया क्युकी बाकि और language के तुलना में C++ को शिखना आसान हैं | C language की ज्यादातर syntex english भाषा से लिया गया हैं |

आज भी C++ बहुत लोकप्रिय हैं | किसी भी प्रकार के programing language शिखने से पहले आपको जरुर C को शिखना चाहिए |

C++ programing का एक उदाहरन

include

main()
{
cout << “Hello World!”;
return 0;
}
Output:

Hello, world!

C plus plus in Hindi(C++

C ++ के features(C++ के विशेषता )

आज भी C ++ के लोकप्रियता बहुत हैं | लोगो के द्वारा प्रसंद किये जाने वाले programing language में C ++ का नाम भी आता हैं , क्युकी यह सिखने में आसान हैं और कोई भी तरह के software devlop किया जा सकता हैं | C++ को लोगो के द्वारा पसंद आते हैं , इसके कुछ विशेषता भी हैं |जिसके बारे में निचे बताया गया हैं |

  • C++ बहुत ही simple programing language हैं | इसको learn करने की समय अवधि बाकि language के तुलना में बहुत कम हैं |
  • C++ Object Orianted concept को support करता हैं और OOP concept भी बहुत आसान हैं |
  • C++ बहुत पुराणी powerfull OOP programming lanaguage हैं |
  • C++ कोई तरह के libery भी provide करता हैं , जिससे programer को हेल्प होता हैं |
  • C++ Compiler based programing language हैं |
  • बाकि lanaguage के तुलना में C++ काफी fast loading हैं |
  • समय के साथ साथ C++ को update करता गया हैं |
  • बाकि सारे programing lanaguage के तुलना में C++ बहुत ही आसान हैं |
  • C++ सिंटेक्स based programing lanaguage हैं और बहुत सारे सिंटेक्स english lanaguage से लिया गया हैं |
  • किसी भी तरह के programing lanaguage को सिखने से पहले C++ को जरुर सीखना चाहिए |
FauG के बारे में पूरी जानकारी

C++ सीखना क्यों महत्वपूर्ण हैं (Importance of C++)

आधुनिक समय में सभी programing lanaguage OOP को support करता हैं और ज्यादातर काम OOP में ही करना पसंद करता हैं | एइसे में programer को OOP के concept को समजना बहुत जरुरी हैं | C++ OOP based lanaguage हैं जोकि OOP के concept को बहुत अच्छी तरह से समझता हैं |

C++ बहुत ही पुराणी OOP based programing language हैं , जहा पर बहुत आसान और सरल भाषा में OOP के concept होता हैं | जिससे progrmer के leraning स्पीड को तेज़ करता हैं |

C++ एक powerfull language होने के वजह से इससे कोई बड़ी बड़ी software develop किया जा सकता हैं |

किसी भी तरह के programing language को समझने से पहले अगर आपको C++ के concept clear होगा तो आपके शिखने के स्पीड को 2 X कर देगा |

C++ सरल और powerful होने के लिए इसे सरकार के किसी भी कंप्यूटर caurse में provide करवाया जाता हैं | Like – PGDCA , DCA,MCA जैसे कोई भी caurse में C++ को add किया जाता हैं |

अत: अगर programer बनने के शॉक रखने हो तो आपको जरुर C++ शिखना चाहिए | C++ को शिखने के बाद JAVA , C # जैसे हार्ड language को भी शिखना आसान बना देगा |

C++ के उपयोग (Uses of C++)

  • C++ एक highly powerful programing lanaguage में से एक हैं जिससे गेम के develop में भी use किया जाता हैं |
  • C++ से embed drive भी बनाया जाता हैं |
  • Image Optimizer software भी C++ से बनाया जा सकता हैं |
  • Graphics User interphase application भी develop किया जा सकता हैं |
  • वेब ब्राउज़र develop करने में भी C++ का use किया जा सकता हैं |
  • किसी भी language के complier develop करने में भी C++ के develop कर सकते हैं |
  • Operating system जैसे की विंडोस , लिनक्स आदि के मेजर पार्ट को develop करने में भी C++ के use किया जाता हैं |
  • Medical या engineering फ़ील्ड के application में भी C++ के use किया जाता हैं |
  • गूगल जैसे सर्च इंजन के back end में भी C++ के use किया जाता हैं |
  • ओर programing language के create करने में भी C++ के use आता हैं |

C++ को कहा से सीखे (How to learn C++ )

C++ एक एइसा language हैं जो पुराणी होने वावजूद भी लोगो में पोपुलर हैं | यह वाकी ओर language के concept को समझाने में भी काम आते हैं | एइसे में इसे शिखने की चाहती भी बहुत हैं |

हम आपको बता दे कि C++ को आप online ओर offline दोनों तरीखे से ही सिख सकते हो | Online platform के बात करू तो online caurse , Youtube video या गूगल के मदत से भी सिख सकते हो |

offline platform में आप किसी भी institution के जडिये सिख सकते हो |

C plus plus in Hindi पोस्ट को लेकर हमारा अंतिम राय

Programing language के डिमांड दिन व् दिन बड़ते गए हैं | आज देश जितने भी तरक्की कर रहे हैं , लोग इन्टरनेट पर आ रहे हैं और Programing language के सीखने के भी संख्या बढता जा रहा हैं |

अगर आप भी Programing language सीखना चाहते हो , Programmer बनाना चाहते हो तो , मुझे लगता हैं कि आपको c++ से शुरुवात करना चाहिए |

वाकी अगर किसी तरह के जानकारी हमसे छुट गए हो तो आप हमसे कमेंट के द्वारा पूछ सकते हो या गूगल भी कर सकते हो |

उम्मीद हो ये जानकारी आपको पसंद आयी होंगी | लेख को लेकर आपके राय कमेंट पर जरुर लिखे |

Frequently Asked Questions

Q. What is C++ in Hindi?

Ans:C++ एक middle level programming language हैं जिससे जिसका use software बनाने के लिए किया जाता हैं |

Q. How I learn C++ in Hindi?

Ans : C++ को online या offline caurse के द्वारा आसानी से सिख सकते हैं |

Q. Who has discovered C++ in Hindi ?

Ans:C++ को develop 1979 से 1983 के बीच बेल लेबोरेटरीज में Bjarne Stroustrup के द्वारा किया गया था |

2 thoughts on “C plus plus in Hindi(C++ क्या हैं जाने पूरी बाते हिंदी में )”

Leave a Comment