गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है | Goldfish ka scientific naam kya hai

Goldfish ka scientific naam kya hai, Goldfish kya है Goldfish कहा पाया जाता है, गोल्डफिश के लम्बाई कितने होते है, गोल्डफिश के सम्भोग समय क्या है ओर भी गोल्डफिश के बारे में रोचक बातें आर्टिकल पर बताया गया है।

GoldFish Introduction in Hindi:-Gold Fish यह मीठे पानी की मछली है इसकी उत्पत्ति चीन में हुई थी।जो सर्वाहारी और मांसाहारी दोनों होती है।इसके गले नुकीले होते हैं जो कठोर चारा निगल सकते हैं।

सबसे पहले इस मछली को पालतू बनाया गया था।इस मछली का जीवनकाल अपेक्षाकृत अधिक होता है और सबसे अधिक रखे जाने वाली एक्वैरियम मछली है।

गोल्ड फिश की नस्लें आकार और रंग में भिन्नता पाई जाती हैं जो कि सफेद, पीले, भूरे, नारंगी, लाल और काले रंगों के होते हैं। गोल्ड फिश स्केल रंग और आकार में भिन्न होती हैं और इसलिए, वे अद्वितीय दिखती है। यह पूर्वी एशिया के मूल निवासी है । इसे पहली बार चीन में पाला गया था।और जिसकी पहचान यूरोप में 17वीं सदी के पूर्वार्ध में हुई। Gold Fish की कई अलग अलग किस्में हैं। गोल्ड फिश बहुत ही शांतप्रिय मछली है।

अनुक्रम दिखाए

गोल्डफिश का साइंटिफिक नाम क्या है?(What is the scientific name of goldfish?)

Goldfish का scientific नाम “Carassius Auratus (कैरासियस ऑराटस)“हैं। तथा हिंदी में Goldfish को “सुनहरी मछली” भी कहा जाता है।”कैरासियस गिबेलियो फॉर्मा ऑराटस” इसका लैटिन नाम है। तथा “गोल्डन क्रूसियन कार्प”इसका अन्य नाम है।यह सबसे अधिक रखे जाने वाली एक्वैरियम मछली है।गोल्ड फिश बहुत ही शांतप्रिय मछली है।।यह संसार में विख्यात सजावटी मछलियों में से एक है।

गोल्ड फिश (Goldfish) का वर्गीकरण

गोल्डफिश का वैज्ञानिक नामकैरासियस औराटस
लैटिन नामकैरासियस गिबेलियो फॉर्मा ऑराटस
अन्य नामगोल्डन क्रूसियन कार्प (Golden crucian carp)
हिंदी नामसुनहरी मछली
जातिकैरासियस
वर्गमछली
निवाश स्थानमीठा पानी
मूल श्रोतचीन
आकार20 Cm
PH रेंज6.5 से 8.5
वजन3 किलो तक
सम्भोग का समयअप्रैल-मई
लंबाई45 सेंटीमीटर तक
भोजनशैवाल,लार्वा,कीट आदि

Gold Fish क्या है?(What is goldfish?)

Gold Fish साइप्रिनिडे परिवार में एक मीठे पानी की मछली है, जो कि साइप्रिनफॉर्मिस के क्रम में है।Gold Fish सुंदर रंग एवं सुंदर दिखने वाली मछली है।इसके आकार देखने में छोटे होते हैं। इसके रंगों में भिन्नता पाई जाती है जो सफेद, पीले, भूरे, नारंगी, लाल और काले रंगों के होते हैं। यह सबसे अधिक रखे जाने वाली एक्वैरियम मछली है।गोल्ड फिश बहुत ही शांतप्रिय मछली है।

Gold Fish कहां रहता है?(Where does the goldfish live?)

धूमकेतु या धूमकेतु-पूंछ वाली सुनहरी मछली संयुक्त राज्य अमेरिका में पाए जाने वाली सबसे आम प्रजाति है। उनकी मूलतः जलवायु उपोष्णकटिबंधीय से लेकर उष्णकटिबंधीय तक होती है और वे ताज़े पानी में रहते हैं जिसका pH 6.8-8.0 और कठोरता 5.0-19.0 dGH होती है।इसके अलावा सुनहरीमछली चीन में तालाबों, एक्वैरियम के बाहर, घाटी और दलदल में पाई जा सकती है।

Gold Fish की उम्र कितनी होती है?(What is the age of gold fish?)

गोल्डफिश को एक्यूरियम में रखा जाए तो वह 5 साल तक जीवित रह सकती है।Gold Fish 40 वर्ष से भी अधिक समय तक जीवित रह सकती है जो खुले वातावरण में रहती है । लेकिन जो घरों में पाया जाता है Gold Fish आमतौर पर सिर्फ और सिर्फ 6 से 7 सालों तक ही जीवित रहती है ।

Gold Fish का एवरेज वजन कितना होता है?(What is the average weight of a gold fish?)

Gold Fish का अधिकतम वजन 9.9 pounds (4 kg) होता है, तथा इसके साथ ही सुनहरी मछली 40 साल तक जीवित रह सकती है। हालांकि, यह दुर्लभ है; किन्तु अधिकतर  सुनहरी मछली इससे आधे आकार से भी छोटी होती हैं।

Gold Fish के भोजन क्या क्या है?(What is the food of gold fish?)

गोल्डफिश मांसाहारी और सर्वाहारी मछलियां है, तथा गोल्डफिश का प्रमुख आहार आम मछलियां ,जलीय पौधे, मच्छर के लार्वा, पानी के पिस्सू, कीड़े, दलिया, मक्का और अंडे की जर्दी इत्यादि हैं।

Gold Fish के बारे में रोचक बातें(Interesting things about gold fish)

  1. गोल्डफिश का वैज्ञानिक नाम कैरासियस ऑराटस है। कैरासियस गिबेलियो फॉर्मा ऑराटस इसका लैटिन नाम है। हिंदी में इसे सुनहरी मछली के नाम से जाना जाता है। गोल्डन क्रूसियन कार्प इसका दूसरा नाम है।
  2. गोल्डफिश मांसाहारी और सर्वाहारी मछलियां है, तथा गोल्डफिश का प्रमुख आहार आम मछलियां ,जलीय पौधे, मच्छर के लार्वा, पानी के पिस्सू, कीड़े, दलिया, मक्का और अंडे की जर्दी इत्यादि हैं।
  3. गोल्डफिश को एक्यूरियम में रखा जाए तो वह 5 साल तक जीवित रह सकती है। अन्यथा, वे 10 से 15 साल तक जीवित रह सकते हैं यदि उनके पास पर्याप्त भोजन और साफ पानी हो। दूसरी ओर, एक सुनहरी मछली 43 साल तक जीवित रहती है।
  4. उनकी मूल जलवायु उपोष्णकटिबंधीय से लेकर उष्णकटिबंधीय तक होती है और वे ताज़े पानी में रहते हैं जिसका pH 6.8-8.0 और कठोरता 5.0-19.0 dGH होती है।
  5. इसे पहली बार चीन में पाला गया था।और जिसकी पहचान यूरोप में 17वीं सदी के पूर्वार्ध में हुई। Gold Fish की कई अलग अलग किस्में हैं। गोल्ड फिश बहुत ही शांतप्रिय मछली है।
  6. सुनहरीमछलीयों को सकारात्मक सुदृढीकरण का उपयोग करके विभिन्न रंगों के प्रकाश संकेतों को पहचानना और उन पर प्रतिक्रिया करने के लिए प्रशिक्षित किया जा सकता है।
  7. उनके हड़ताली रंग के कारण, सुनहरीमछली को जंगल में छोड़ दिया जाता है इसलिए वे बड़ी मछलियों या पक्षियों जैसे शिकारियों के लिए आसान शिकार हो जाती हैं।

Gold Fish के प्रकार(Types of gold fish)

दोस्तों! अब तक आपने पढ़ा गोल्डफिश क्या है? उनके साइंटिफिक नाम क्या है ?उसका वजन कितना है ? ऐसी कई सारी चीजें आपने देखा।अब हम जानेंगे गोल्डफिश कितने प्रकार के होते हैं? गोल्डफिश के कई प्रकार है ,जो इस प्रकार है :-

1.साधारण सुनहरी मछली (Common Goldfish)

Common Goldfish

यह मूल गोल्डफिश है।साधारण सुनहरीमछली को कभी-कभी फीडर या फीडर सुनहरी मछली के रूप में संदर्भित किया जाता है, क्योंकि वे सस्ती होती हैं और कई उन्हें अन्य मछलियों, कछुओं और सांपों के भोजन के रूप में उपयोग करती हैं। वे अकेले रंग में अपने कार्प पूर्वजों से भिन्न होते हैं। यह मुख्यता नारंगी रंगों में पाए जाते हैं ; वे लाल, सफेद, काले, पीले और इनमें से किसी भी मिश्रण में आते हैं।इसके छोटे पंख, पतला शरीर, छोटी पूंछ होती है। और यह बहुत ही तेज़ होती है। यह गोल्डफिश बहुत ही लोकप्रिय है। और लोग इसे ही पालना अधिक पसंद करते हैं। तथा इसकी कुछ प्रजातियां पीले रंगों की भी पाई जाती है।

2.शुबंकिन गोल्डफिश (Shubunkin Goldfish)

Shubunkin Goldfish

शुबंकिन रंग को छोड़कर साधारण और धूमकेतु सुनहरी मछली के समान दिखते है। इसका रंग हमेशा कैलिको होता है। यह गोल्डफिश लंदन में अधिक पाई जाती है. साधारण सुनहरी मछली के जैसा ही शुबंकिन गोल्डफिश के भी छोटे पंख, छोटे पूंछ और पतला शरीर होता है।उनके नाज़ुक (पारदर्शी और धातु के मिश्रण) तराजू उन्हें एक मोती रूप देते हैं। शुबंकिन की तीन किस्में हैं, जिन्हें लंदन शुबंकिन, अमेरिकन शुबंकिन और ब्रिस्टल शुबंकिन कहा जाता है।शुबुकिंन गोल्डफिश दिखने में कॉमन गोल्डफिश और धूमकेतु गोल्डफिश की तरह ही हाती है। शुबुकिंन गोल्डफिश को सबसे पहले जापान में क्रॉसब्रीडिंग के द्वारा पैदा किया गया था। क्रॉसब्रीडिंग के लिए कैलिको टेलिस्कोप आई गोल्डफिश (डेमेकिन्स), कॉमेट गोल्डफिश और कॉमन गोल्डफिश को इस्तेमाल किया गया था।

3.कॉमेट गोल्डफिश (Comet Goldfish)

Comet Goldfish

साधारण सुनहरी मछली की तरह, धूमकेतु एक अच्छे आकार की मछली (लगभग 30-35 सेंटीमीटर) है, यह बहुत सक्रिय है और इसलिए इसे एक बहुत बड़े तैराकी स्थान (न्यूनतम 150-200 लीटर प्रति मछली या बेहतर बेसिन) की आवश्यकता होती है। यह अधिकतर अमेरिका में पाला जाता है।कॉमेट गोल्डफिश का पंख बहुत लम्बा होता है तथा यह दो भागों में विभाजित रहता है। इसका शरीर पतला रहता है।

4.अमेरिकी / जापानी शुबंकिन (American/ Japanease Shubunkin)

American/ Japanease Shubunkin

अमेरिकी शुबंकिन एक कैलिको रंग का धूमकेतु गोल्डफिश होता है। यह बड़े एक्वैरियम (150-200 लीटर प्रति मछली) या तालाब में 20 से 35 सेमी तक पहुंच सकता है।इसके पंख एक बिंदु पर समाप्त होते हैं. और यह बहुत लंबे होते हैं। इसका शरीर पतला होता है तथा वह बहुत तेज होती है

5.ब्रिस्टल शुबंकिन (Bristol Shubunkin)

Bristol Shubunkin

ब्रिस्टल शुबंकिन का दुम का पंख बहुत चौड़ा होता है, जो इसे अन्य शुबंकिन्स से अलग करता है। यह मछली हमेशा कैलिको रंग की होती है। इसका धूमकेतु गोल्ड फिश के सामान पतला शरीर होता है. इसे बहुत बड़ी तैराकी जगह की आवश्यकता होती है। अनुमानता 150-200 लीटर प्रति मछली या बेहतर बेसिन की आवश्यकता होती है।

6.रैंचू गोल्डफिश (Ranchu Goldfish)

Ranchu Goldfish

इस गोल्डफिश को जापान में “King of Goldfish” कहा जाता है। रैंचू जापान की एक हुड किस्म है। रैंचू को ऐतिहासिक रूप से मारुको या कोरियाई गोल्डफिश के रूप में भी जाना जाता है। हालांकि, मारुको साधारण तौर पर अंडाकार मछली के रूप में जाना जाता है। चीनी लायनहेड नमूनों के द्वारा इसे जापान में क्रॉसब्रीड कराया गया था।

7.रयुकिन गोल्डफिश (Ryukin Goldfish)

Ryukin Goldfish

रयुकिन गोल्डफिश जापानी रैनचु हुड वाली किस्म है। जापान में इसे “सुनहरी मछलियों के रजा” के नाम से जाना जाता हैं।सजावटी रयुकिन का शरीर छोटा और गहरा , तथा नुकीले सिर वाली, और सिर के पीछे पीठ पर एक बड़ा कूबड़ होता है।यह लंबी-पंख वाली या छोटी-पंख वाली या तो ट्रिपल या चौगुनी पूंछ के साथ हो सकती है। गोल्डफिश की एक कठोर और आकर्षक किस्म है।

8.टेलीस्कोप गोल्डफिश (Telescope Goldfish)

Telescope Goldfish

टेलीस्कोप गोल्ड फिश की आंखें बड़े होती है। यह अपनी बढ़ी हुई आंखों को छोड़कर, डेमकिन रयुकिन और फैंटेल की तरह ही दिखाई देती है। टेलीस्कोप गोल्डफिश को सबसे पहले चीन में सन 1700 में विकसित किया गया था। तथा इसका आकार गहरा और पंख लंबे होते हैं। इसमें कुछ पंख छिपे हुए, कुछ चौड़े और कुछ छोटे होते हैं।

9.कैलिको गोल्डफिश (Calico Goldfish)

Calico Goldfish

कैलिको गोल्डफिश धब्बेदार कैलिको पैटर्न है।कई रंगों के धब्बेदार कैलिको पैटर्न के कारण इसका नाम विकसित किया गया। कैलिको गोल्डफिश के शरीर पर लाल, पीले, भूरे और काले रंग के धब्बे होते हैं और नीले रंग की पृष्ठभूमि पर गहरे रंग के धब्बे होते हैं। यह रंग आमतौर पर पंखों पर फैले होते हैं।

10.बबल आई गोल्डफिश (Bubble Eye Goldfish)

Bubble Eye Goldfish

बबल आई गोल्डफिश , फैंसी गोल्ड फिश की एक छोटी किस्म है, इसकी आंखें ऊपर की ओर इशारा करने वाली होती है। जिसमें तरल पदार्थ से भरी दो बड़ी थैलियां होती हैं। इस गोल्डफिश की पीठ और आंखें बुलबुले की तरह होती हैं जो मछली के रंग से मेल खाती हैं।

FAQ

Gold Fish को हिंदी में क्या कहते हैं?(What are the words for gold fish in Hindi?)

गोल्डफिश को हिंदी में सुनहरी मछली या स्वर्ण मछली भी कहते है। तथा गोल्डफिश को गोल्डन क्रूशियन कार्प के नाम से भी जाना जाता है। गोल्डफिश कई रंगो में भी पाई जाती हैं जैसे लाल, सफेद, संतरी, ब्राउन, ब्लैक, येलो आदि।यह मछली कार्प परिवार का सदस्य हैं।

Gold Fish कहां पाई जाती है?(Where is gold fish found?)

गोल्डफिश ताज़े पानी में रहती हैं। यह चीनी तालाबों में पाई जाती है।यह मछली सबसे पहले यूरोप में 17वीं सदी के की शुरूआत में पाई गई। गोल्डफिश अलग7अलग प्रजातियों में भी पाई जाती है

Gold Fish कितने साल तक जीवित रहती है?(How long do gold fish live?

Gold Fish 40 वर्ष से भी अधिक समय तक जीवित रह सकती है जो खुले वातावरण में रहती है । लेकिन जो घरों में पाया जाता है Gold Fish आमतौर पर सिर्फ और सिर्फ 6 से 7 सालों तक ही जीवित रहती है ।

Gold Fish बिना भोजन किए कब तक जीवित रह सकती हैं?(How long can goldfish survive without food?

Gold Fish बिना भोजन के 2 सप्ताह तक जीवित रह सकती है। एक सुनहरी मछली बिना भोजन के साढ़े 4 महीने तक जीवित रहने के लिए जानी जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *