Html in hindi(Html क्या है कैसे सीखें)

आज दुनिया बहुत आगे निकल गए है। ऐसे में टेक्नोलॉजी के हर छोटे छोटे चीज़ों को समझना बहुत जरूरी है। आजके पोस्ट में हम जानेंगे html के बारे में। HTML kya hai(html in hindi), html किस लिए प्रोयोग होते है यानि कि html की पूरी जानकारी इस पोस्ट में मिल जायेगा।

Html एक अच्छा concept है जिसे टेक्नोलॉजी से लेकर शिक्षा में भी काम आते है। बहुत सारे competitive exam में भी html विषय में प्रश्न पूछे जाते है। 

इसके अलावा आप अगर ब्लॉगर या web devloper बनने के शॉक रखते है तो इसके लिए html के बारे में जानना अनिवार्य है। 

आखिर html kya hota hai? Html के बारे जानने से पहले हम थोड़ा web के बारे में चर्चा कर लेते है। वेब यानि कि information source जहाँ पर सर्च करके आप अपने according जानकारी ले पाते है।

Loading...

Web से जानकारी पाने के लिए आपको अपना question सर्च करने होता है और जो भी result show होते है वह एक एक web page होते है। 

यानी कि web web pages के भंडार होते है। लेकिन क्या आपने कभी ये सोंचा “आखिर web pages बनाया कैसे जाते है“?

वेबपेज वेबसाइट के ही हिस्सा होते है जो बनता है कोई प्रकार language से जिसे हम machine language के नाम से भी जानते है।

Html भी एक ऐसे ही language है जो वेबसाइट या web pages की structure को बनाने में काम आते है। 

Html से वेबसाइट की document को बनाया जाता है यानी की वेबसाइट के किस जगह पर कौनसी element होगा ये html ही decide कर सकते है।

वैसे तो कोई मशीन भाषा होते है लेकिन कोई भी browser सिर्फ html और css को ही समझ पाता है और जिसे वो execute भी कर पाता है।

Loading...

यानी कि आप मान सकते है html के बिना वेबसाइट या वेबपेज बनना मुश्किल है। हालांकि html के alternative भी है, लेकिन सबसे ज्यादा html ही use होते है।

ये तो रहे html के कुछ basic जानकारी, तो चलिए html के बारे(Html in hindi) में ओर भी डिटेल्स में पड़ते है।

Html क्या है(Html in hindi)

Html in hindi
Loading...

Html एक markup language है जो वेबपेज की structure बनाने के लिए use होते है। Html को hypertext markup language नाम से भी जाने जाते है। 

Html language से हम browser को webpages की structure को समझा पाते है जैसे कि heading किस जगह पर आना चाहिए menu कहाँ पर होना चाहिए। 

Html से वेबसाइट की structure बनाया जाता है और उसे disign करने के लिए css के use होते है। चलिए इसे एक उदाहरण से समझते है। 

आप एक car को webpage समझ ले। 

अब car के parts को html से बनाया जायेगा और look जैसी कि color, design को css से बनाया जाएगा।

उम्मीद है दोस्तों आप समझ पाए होंगे html kya hai? 

Html full form(HTML in hindi)

Html के full form है hypertext markup language जो webpages के structure बनाने के काम में आते हैं।

Html hypertext और markup दो शब्द के मिश्रण से गठित होते जिसके परिभाषा नीचे बताया गया है- 

Hypertext: किसी भी webpages में उपस्थित link को hypertext कहाँ जाता है। Hypertext यानी एक web page को दुसरे webpage से text के जड़िये जोड़ना। जिससे user text पर क्लिक करके एक page से दूसरे webpage पर पहुंच पाए।

Markup: Website के structure को markup कहाँ जाता है। Markup lanaguage से website की structure को design किया जाता है। Html के अलावा ओर भी कोई प्रकार के markup language होते हैं जैसे कि HTML,XHTML, DHTML, XML etc.  इन्हें html के alternative भी use कर सकते है।

Html के प्रोयग कहाँ और कैसे किया जाता है

हमने ऊपर बता ही दिया html एक markup language है जिसके प्रोयोग web document बनाने में किया जाता है।

कोई भी browser सिर्फ html जैसे markup language को ही समझ पाते है और उन code को ही execute कर पाते है।

Loading...

इसीलिए web में html के प्रोयोग अनिवार्य है।

अब बात करते है html code कैसे करते है?

Html language में कोई तरह के tag होते है जिन्हें हमे code editor में लिखना होता है और इन्ही tag को ही ब्राउज़र द्वारा समझ पाते है। जैसे कि heading के लिए “<H>” tag के use करते है।

  • HTML document coding के द्वारा बनाया जाता है।
  • Coding करने के लिए सबसे पहले text editor के जरूरत होते है। जैसे-Notepad,Notepad++
  • Text editor में code लिखना होता है। Html code “<>” se start होता है और “</>” से end होता है।
  • Html file को .html के साथ save किया जाता है।
  • ये .html file ब्राउज़र पर open कर पाते है और कोड के according result देखने को मिलते है।
  • नीचे इसके उदाहरण भी दिया गया है ।
<html>
<head>
<title>Your Web Page Title</title>
</head>
<body>
<h1> Web Page Heading </h1>
<p>Web Page Pragraph</p>
</body>
</htm>

Html tag in Hindi

अगर आप html learn करना चाहते हो तो आपको सिर्फ html tag के use ही सीखना होता है। कोई तरह के tag होते जिसे हमे याद करना होता है और उसी से ही structure बनाया जाता है। उन्हीं में से कुछ tag के बारे में निचे बताया गया है । ध्यान रखने कि बात यह है html tag case sentasive होते है और < > से शुरू और </ > से end होते है।

  • <Html> : html code शुरू करने के लिए <html> से शुरू करना होता है और end </html> से होता है । उदाहरण: <html> Your code </html>
  • <Head>: ये सिर्फ सर्च engine को visible होते है। user द्वारा यहाँ पर लिखे code दिखाई नही जाते।
  • <Body> : यहाँ पर लिखे गए code ही user को दिखाई देते है।
  • <H> : ये heading को दर्शाता है ।
  • <p> : Paragraph के लिए <p> tag के use होते है।
  • <b> : bold text के लिए इसके प्रोयोग होते है।
  • <u> : Underline के लिए इसके प्रोयग होते है।
  • <i> : Text को italic करने के <i> tag के use होते है।
  • <img> : Images को attach करने के img tag के use किया जाता है।
  • <div> : Division के लिए div tag use होते है।
  • <nav> : Navbar के लिए nav tag के use होते है।
  • <Ul> : Unorder list के लिए प्रोयोग होते है।
  • <Form> : Form बनाने के लिए form tag use होते है।
  • <a> : लिंक जोड़ने के लिए a tag के use किया जाता है ।

इसके अलावा ओर भी कोई तरह के tag है। लेकिन guys ध्यान रखे tag को “<>symbol” से शुरू किया जाता है और “</> symbol” से end किया जाता है।

<html>
<head>
<title> </title>
</head>
<body>
<h1> Your Heading Here </h1>
<p> Pragraph are here </a>
<a href="#link_location"> Link Text </a>
<b> Text here </b>
</body>
</html>

Output:

Html in hindi

Html के इतिहास(History of html)

Html के devlop साल 1990 में tim berners lee द्वारा किया गया था। Tim berners lee एक पेशेवर physicists और contracter थे ।

Loading...

यानी कि आप मान सकते हो 1990 में html के पहले version को लाया गया था। इसके बाद इसको modify करते हुए ओर भी version devlop किया गया। आज के समय html के latest version HTML5.0 के इस्तेमाल हो रहे है। 

HTML1.0

ये HTML के पहला version है जो 1990 में launch हुई थी। हालांकि उस समय इसे बहुत कम लोग ही use करते थे। 

HTML2.0

HTML1.0 के साथ ओर कुछ features add करते हुए इसे 1995 में devlope किया गया था।

HTML3.0

यह version सबसे पॉपुलर हो गए। लेकिन compatibility problem के कारण इसे रोक दिया गया था और सारे problem fix करने के बाद इसे फिर से introduce किया गया।

HTML3.2

इस VERSION को 1997 में कुछ नए TAG के साथ लाया गया।

HTML4.1

इस Version में css के साथ साथ कुछ नए tag को add किया गया । इसे 1999 में introduce किया गया।

HTML5.0

यह HTML के LATEST VERSION है जिसे 2014 में devlope किया गया। अभी जितने भी वेबसाइट है सभी html के latest version पर ही बनी हुई है।

यह भी पड़े –

Features of Html

  • यह बहुत simple language है। HTML को सीखने के लिए sirf tag के uses को जानना होता है। यानी कि सीखने में बहुत आसान होते है।
  • ये platform independent language है यानी कि किसी भी operating system में open हो जाते है।
  • HTML को mobile से भी सीख जा सकता है और code मोबाइल पर भी कर पाते है। 
  • किसी भी text editor पर html के code लिख सकते है।
  • यह programer को एक web page से दूसरे page को connect करने की facility देते है। HTML ahref tag के use करके link बनाकर एक web page से दूसरे web page पर जा सकते है।
  • इसमे पहले tag difine होने के कारण coding में programmer को बहुत सुविधा मिलते है।
  • Html code capital या small दोनों letter में लिख सकते है। हालांकि लोग small letter के ही use करते है।
  • कभी code गलत लिखने पर भी browser use खुद से ठीक करके error free result दिखाते है।
  • यह programmer को video image graphics etc add करके web pages को ओर भी attractive बनाने की facility देते है। 
  • किसी भी browser में html code को run कर पाते है।

Html कोडिंग कहाँ से सीखें

आजके समय मे वेबसाइट बनाने के मुख्य भाषा मान सकते है HTML। आप अगर खुद से अपने वेबसाइट बनाने के सोंच रहे हो तो सबसे पहले आपको web desinging सीखना पड़ेगा, जिसमें html भी आता हैं।

नीचे आपको 4 ऐसे प्लेटफॉर्म के बारे में बताया गया है जहाँ से आप आसानी से html coding सिख पाते हो।

#1.यूट्यूब से सीखें

अभी के टाइम के बात करें तो youtube एक सीखने के लिए बहुत ही बड़े प्लेटफॉर्म बन गए है। अगर यूट्यूब पर search करे  “html tutiorial” तो आपको बहुत सारे वीडियो मिल जाएगा, जहाँ से html को बहुत आसानी से सीख पाओगे। 

या आप search कर सकते हो “Html technology gyan” तो आपको एक 1 hour के वीडियो मिलेगा । आप एक ही वीडियो से पूरे html को सीख सकते हो।

#2. Web Designing course join करके

अगर आप institute से सीखना चाहते हो तो आप नजदीकी institute को जॉइन कर सकते हो जहाँ web Designing के caurse available है। Web Designing course में आपको HTML, CSS, JAVASCRIPT, PHP, C, C++ जैसे language भी सिखाया जाएगा।

#3.ऑनलाइन वेबसाइट से

Internet पर आपको ऐसे बहुत वेबसाइट मिल जाएगा जो HTML course provide करता है। आप चाहो तो वहाँ से भी learn कर पाओगे। ऐसे ही कुछ वेबसाइट के list नीचे बताया गया है।

#4.किताबें खरीदकर

बहुत लोग ऐसे होते जो किताबी भाषा बहुत अच्छी से समझते है।

अगर आप amazon या flipcart जैसे वेबसाइट पर web desining या html book सर्च कोरोगी तो ऐसे हज़ारो book मिल जाएगा। जिसे आप buy कर सीख सकते हो।

Conclusion:Html in hindi

Html एक web भाषा है जिसे सीखना बहुत आसान है। बाकी machine language के तुलना में html बहुत ही easy और simple है। Html सीखने के लिए सिर्फ इसके tag के uses को ही याद करना होता है।

तो दोस्तों उम्मीद है html in hindi के ऊपर लिखे गए ये पोस्ट आपको अच्छी लगी। अगर guys, आपको पोस्ट को लेकर कुछ भी doubt है तो हमे जरूर comment करे, हमारे team बहुत जोल्ड रिप्लाई देंगे। 

अगर guys, आपको लगता है कि इस पोस्ट के माध्यम से आपको कुछ सीखने को मिले है तो जरूर यह पोस्ट को अपने social media पर शेयर करे ताकि बाकी लोगो को भी जानकारी मिल पाए। 

पोस्ट यहाँ तक पड़ने के बहुत बहुत धन्यवाद। जय हिंद।। जय भारत।।

नमस्कार दोस्तों | मैं सूरज नाथ इस ब्लॉग के संस्थापक और लेखक हूँ | मुझे लिखने में बहुत रूचि है और अभी तक हमने जो कुछ भी सिखा उसी को इस ब्लॉग के माध्यम से आप तक पहुँचाता हूँ | Join Us on- Facebook

1 thought on “Html in hindi(Html क्या है कैसे सीखें)”

Leave a Comment