Skip to content

स्वतंत्रता दिवस पर जोशीला भाषण 2022 | Independence day Short Speech in Hindi

    स्वतंत्रता दिवस के मौके पर Short speech, जोशीला भाषण ,hindi speech on Independence | Short speech on Independence day in Hindi

    Independence day speech in Hindi

    स्वतंत्रता दिवस हम में से प्रत्येक के लिए एक बहुत ही अद्भुत और प्रशंसनीय राष्ट्रीय दिवस है। इस दिन हमें अपने देश को आगे बढ़ाने के लिए ईश्वर से प्रार्थना करनी चाहिए। हम 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं क्योंकि 1947 में भारत आजाद हुआ था।

    भारत एक बहुत ही लोकतांत्रिक और न्यायपूर्ण राष्ट्र है, जहां प्रत्येक नागरिक को उस नेता को चुनने की अनुमति है, जो राष्ट्र का नेतृत्व करने का हकदार है। हालांकि देश को स्वतंत्रता मिलने के बाद से लेकर अब तक कई सुधार हुए हैं, लेकिन इसके साथ कुछ गिरावट भी दिखी है जैसे कि बेरोजगारी, साक्षरता की कमी, प्रदूषण, गरीबी, और इस तरह की और भी कई समस्याएं हैं। आज हम इस देश के लोगों को एक साथ इस प्रकार के मुद्दों को हल करने का वादा कर सकते हैं ताकि यह देश दुनिया के सर्वश्रेष्ठ देशों में से एक बन सके।

    भारत के लिए स्वतंत्रता दिवस केवल एक पर्व नहीं, बल्कि गौरव और सम्मान का दिवस है। यह दिवस हर भारतीय का अभिमान है। अनगिनत लोगों की कुर्बानी के बाद भारत मां को 15 अगस्त 1947 को आजादी मिली थी, लेकिन उसे स्वतंत्रता का आकार 26 जनवरी 1950 को मिला, क्योंकि इसी दिन हमारा संविधान लागू हुआ था।

    भारत में हम सिर्फ बैठकर यह सोच सकते हैं कि भारत को अंग्रेजों से मुक्त कराना कितना मुश्किल था। सफलता प्राप्त करने के लिए भारतीय 1857 से 1947 तक लड़े और इस स्वतंत्रता को पाने के लिए लाखों स्वतंत्रता सेनानियों की जान भी चली गई। उसके बाद भारत के कई नेताओं ने भारत की स्वतंत्रता के लिए उनके खिलाफ संघर्ष किया और लाखों जिंदगियों का बलिदान किया।

    हम भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु, खुदीराम बोस और चन्द्र शेखर आज़ाद को कभी नहीं भूल सकते जिन्होंने भारत की आजादी के लिए बहुत कम उम्र में अपने प्राणों का बलिदान दिया था।

    Independence day speech in Hindi

    हम नेताजी और महात्मा गांधी जैसे बड़े नाम को कैसे अनदेखा कर सकते हैं? महात्मा गांधी एक महान व्यक्ति थे जिन्होंने भारत को अहिंसा के बारे में सिखाया था। वह भारत के एकमात्र नेता थे जो अहिंसा के साथ अंग्रेजों के खिलाफ लड़ने का रास्ता दिखाते थे और आखिरकार ब्रिटिश शासकों के खिलाफ एक लंबे संघर्ष के बाद 15 अगस्त को वह दिन आया जब भारत को पूरी आजादी मिली और इसे ही भारत के स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता है।

    हमारे देश के महान नेता और स्वतंत्रता सेनानी महात्मा गांधी, भगत सिंह, चन्द्रशेखर आजाद, लाला लाजपत राय, सरदार वल्लभ भाई पटेल, लाल बहादुर शास्त्री आदि हैं। भारत को एक आजाद देश बनाने के लिए इन लोगों ने अंग्रेजों के खिलाफ लगातार लड़ाई लड़ी और इसी दौरान कई बार तो इन्हें जेल भी जाना पड़ा। अपने देश के लिए हम इनके समर्पण को कभी नहीं भूल सकते हैं।

    हमें ऐसे महान अवसरों पर इन्हें याद करते हुए सलामी देनी चाहिए। केवल इन लोगों की वजह से ये मुमकिन हुआ कि हम अपने दिमाग से सोच सकते हैं और बिना किसी दबाव के अपने राष्ट्र में मुक्त होकर रह सकते हैं।

    भारतीय तिरंगे के बिना हमारा संविधान अधूरा है और संविधान के बिना स्वतंत्रता की कल्पना अधूरी है। हमारे तिरंगे की खासियत है इसके तीन रंग, जिसमें केसरिया, सफेद और हरा शामिल है। केसरिया रंग जहां भारत की ताकत और साहत का प्रतीक है, सफेद यानी उजला रंग पूरी दुनिया को ये संदेश देता है कि हम अपनी ताकत और तरक्की को शांति के साथ फैलाना चाहते हैं। वहीं, हरा रंग हमारी तरक्की को दर्शाता है।

    यह अभियान हमारे उन राष्ट्रीय संकल्पों को पूरा करने में भी सहायक होगा जिन्हें हमने नए भारत की परिकल्पना के तहत, देश की आजादी के 75वें वर्ष तक, यानि सन 2022 तक हासिल करने का लक्ष्य रखा है। हर परिवार को बुनियादी सुविधाओं से युक्त पक्का मकान दिलाने से लेकर, किसानों की आय को दोगुना करने तक, ऐसे महत्वपूर्ण लक्ष्यों की तरफ बढ़ते हुए हम अपनी आजादी की 75वीं वर्षगांठ के ऐतिहासिक पड़ाव तक पहुंचेंगे।

    नए भारत के समावेशी समाज का निर्माण करने के लिए हम शिक्षा, स्वास्थ्य, पोषाहार, वंचित वर्गों के उत्थान और महिलाओं के कल्याण पर विशेष बल दे रहे हैं। जैसा कि आप सभी जानते हैं हमारे पूर्वजों का जीवन संघर्षमय सिर्फ इसलिए था क्योंकि हमारे पूर्वजों ने क्रूर ब्रिटिश शासकों के साथ संघर्ष करते हुए अपने प्राणों का बलिदान दिया था। 1947 से पहले प्रत्येक भारतीय ब्रिटिश साम्राज्य का गुलाम था और यहां तक ​​कि उनका अपने मन और शरीर पर नियंत्रण नहीं था।

    आपको बता दें कि सभी गुलाम थे और अंग्रेजों से आदेश मिलने पर ही कुछ कर सकते थे। आज हम केवल कुछ भी करने के लिए स्वतंत्र हैं क्योंकि हमारे महान भारतीय नेताओं ने ब्रिटिश साम्राज्य के खिलाफ लड़ाई लड़ी और उन्होंने अपने स्वयं के जीवन की परवाह नहीं की। वे बहुत लंबे समय तक ब्रिटिश साम्राज्य के खिलाफ संघर्ष करते रहे और कई सालों तक उनके खिलाफ लड़ते रहे।

    यह तो आप सभी जानते ही होंगे स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पर तिरंगा फहराया जाता है। फिर राष्ट्रगान गाया जाता है और 21 तोपों की सलामी होती है। इसके बाद हमारी सेना अपना शक्ति प्रदर्शन और परेड मार्च करती है। भारत हमारी मातृभूमि है और हम इस देश के नागरिक हैं। हमें हमेशा अपने देश के सौहार्द को दुश्मन से बचाना चाहिए। यह हमारा दायित्व है कि हम अपने देश को विश्व की महाशक्ति बनने के लिए नेतृत्व करें और इसे सर्वश्रेष्ठ बनाएं।

    हम आपको बता दें कि स्वतंत्रता दिवस इतिहास और इसकी विशेषताएं है। आजादी के बाद, जवाहर लाल नेहरू ने लाल किले से एक भाषण दिया। जब पूरी दुनिया सो रही थी, भारतीय अपने जीवन और स्वतंत्रता के लिए संघर्ष कर रहे थे। आजादी के बाद, भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है। विविधता में एकता भारत की सबसे बड़ी पहचान है। कई बार यह लोगों को अलग करने के लिए हमला किया गया है लेकिन हमेशा भारत अधिक एकजुट हो गया है।

    स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) भारत का एक राष्ट्रीय पर्व है। यह दिन राष्ट्रीय गर्व का दिन है। यह हमें हमारे आजादी की विभिन्न मूल्यों की भी याद दिलाता है, जो भारत के आजादी के साथ सभी जाति और वर्ग के लोगों को एक दूसरे जोड़े रखता है। हम अपने देश के प्रति उनके बलिदान को कभी नहीं भूल सकते। उन्होंने ऐसा किया कि उनकी आने वाली पीढ़ियां संघर्ष के बिना और आजादी से जी सकें और देश आगे बढ़े। हमें ऐसे महान अवसरों पर उन्हें याद करना चाहिए और उन्हें सलाम करना चाहिए।

    यह सिर्फ उनके कारण संभव हो पाया है कि हम अपने राष्ट्र में स्वतंत्र रूप से रह सकते हैं। स्वतंत्रता दिवस एक ऐतिहासिक पर्व है, आज से 74 वर्ष पूर्व भारत को अंग्रेजों से आज़ादी मिली थी। भारत, जिसने अपना अस्तित्व खो दिया था, को पुनः अपनी पहचान मिली। अंग्रेज भारत आए और यहां के परिवेश को बड़े ध्यान से जानने और परखने के बाद, हमारी कमजोरियों को ध्यान में रखते हुए हम पर आक्रमण किया और करीब दो सौ वर्षों तक शासन किया। हमारे वीर योद्धाओं ने कई लड़ाईयां लड़ी और उसके बाद जाके 15 अगस्त 1947 को हमें आज़ादी मिली।

    स्वतंत्रता दिवस पर भाषण 2022

    तब से लेकर आज तक, हम हर वर्ष 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते आए हैं। हमारे माननीय प्रधानमंत्री जी द्वारा हर साल लाल किले पर झंडा फहराया जाता है। इसके बाद वे देश को संबोधित करते हैं और फिर कुछ रंगा-रंग कार्यक्रम प्रस्तुत किये जाते हैं। इसे देखने के लिये दूर-दूर से लोग दिल्ली जाते हैं और जो वहां नहीं जा पाते वे इसका सीधा प्रसारण देखते हैं। इस प्रकार हम हमारे वीर जवानों को याद करते हुए अपना स्वतंत्रता दिवस मनाते हैं।

    अन्य आर्टिकल :

    nv-author-image

    Shambhavi Mishra

    यह कानपुर, उत्तर प्रदेश की निवासी हैं। इन्होंने हिंदी साहित्य में परास्नातक किया हुआ है। इन्हें शिक्षा, बिज़नस से संबंधित विषयों पर काफी अनुभव है और इन्ही विषयों पर लेख लिखती है। Follow Her On Facebook - Click Here

    2 thoughts on “स्वतंत्रता दिवस पर जोशीला भाषण 2022 | Independence day Short Speech in Hindi”

    1. Pingback: विश्व शरणार्थी दिवस पर निबंध | World Refugee day Essay/Theme 2021

    2. Pingback: 30+ Best independence day quotes in Hindi, 15 August Wishes, Shayari, Desh Bhakti Lines

    Leave a Reply

    Your email address will not be published.