Skip to content

MSW course क्या है, कैसे करे? Masters in Social work कौसे के पुरे जानकारी

दोस्तों! आज हम आपके लिए MSW Course से संबंधित वो सारी जानकारी लेकर आए हैं जिसे पढ़ कर आप इस कोर्स को बखुबी समझ जायेंगें । यदि आप भी इस फील्ड में जाने की सोच रहें हैं और इस विषय में अधिकतम जानकारी चाहते हैं तो आज का यह आर्टिकल आपके लिए बेहद लाभकारी होने वाला है क्योंकि इसमें हमने मास्टर्स इन सोशल वर्क यानी कि MSW course in Hindi से संबंधित सभी जानकारी उपलब्ध करवाया है। 

मास्टर्स इन सोशल वर्क (MSW) क्या हैं?

msw course kya hai

MSW course की बात करें तो यह एक मास्टर्स डिग्री अर्थात् पोस्ट ग्रेजुएशन कोर्स है, जिसमें सामाजिक कल्याण एवं सामाजिक मुद्दों के विषय में पढ़ाया जाता हैं जिससे आप समाज के बेहतर विकास में अपना योगदान दे सकते हैं ।इसके साथ ही विभिन्न प्रकार के सामाजिक मुद्दों के संभवतः समाधान के विषय में भी जानकारी दी जाती हैं तथा समाज के विकास की राह में अपना योगदान बखुबी रूप में दे सकें ।

इस कोर्स में विभिन्न सामाजिक विषयों जैसे सोशल साइंस (Social Science), सोशल वर्क (Social Work), सोशल साइकोलॉजी (Social Psychology) इत्यादि विषय की विस्तृत रूप में पढाई जाती हैं, जिसका उद्देश्य छात्रों को सामाजिक दिक्कतों से समाज को मुक्त कर उसके विकास करने में सहयोग से हैं। इस विषय के अंतर्गत पढ़ाई कर रहे छात्रों को समाज के कल्याणकारी हित के लिए ही विशेष शिक्षा दी जाती हैं। जिससे आगे चलकर वे छात्र भविष्य में समाज के बेहतर रूप से कल्याण की राह में अपना भरपूर योगदान दे सके तथा उससे उन राह में उत्पन्न समस्याओं का भी निदान कर सके ।

इसके अतिरिक्त इस कोर्स में विभिन्न प्रकार की सामाजिक बुराइयों से किस प्रकार लड़ा जाए, समाज के विभिन्न वर्गों के जीवन शैली में किस प्रकार बदलाव किया जाए, दलित एवं निम्न मध्यम परिवार की जीवन शैली में किस प्रकार से बेहतर रूप में बदलाव किया जा सके तथा इन समस्याओं के लिए जो निजी संस्थाएं अपने स्तर पर कार्य कर रही है उसके विषय में लोगों को किस प्रकार जागरूक किया जाए, जिससे उन्हें सही रूप में मार्गदर्शन मिल सके तथा समाज के कल्याण की राह में कार्य कर रही संस्थाओं को सहयोग कर सके इत्यादि विषयों के बारे में अवगत कराया जाता है।

इसके अलावा समाज में पनप रही समस्याओं को ढूंढ कर उनका सरल रूप से समाधान किस प्रकार किया जाए एवं लोगों की मानसिकता को इस विषय के प्रति किस तरह नकारात्मक से सकारात्मक रूप में बदला जाए। सरकार द्वारा प्रस्तुत स्कीम्स और सुविधाओं को गरीबी रेखा से नीचे आने वाले लोगों तक उन सुविधाओं को पहुंचाना भी इन छात्रों की गतिविधियों में शामिल किया जाता है। इस तरह की और भी बहुत सारी गतिविधियों के बारे में इस कोर्स से जुड़े विद्यार्थियों को सिखाई जाती है।

मास्टर्स इन सोशल वर्क (MSW) के लिए शैक्षणिक योग्यता

सोशल वर्क में मास्टर्स करने के लिए आपकी शैक्षणिक योग्यता क्या होनी चाहिए, इस विषय में हम आपको यहां जानकारी देने वाले हैं, जो निम्नलिखित है –

  • इसके लिए आप के 12वीं कक्षा के किसी भी शाखा में 50% से अधिक नंबर होने चाहिए।
  • इसके बाद आपके पास किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से स्नातक में डिग्री होनी चाहिए। यदि आप किसी भी विषय से स्नातक किए हैं। चाहे वह आर्ट्स , साइंस या कॉमर्स किसी भी स्ट्रीम से हो आप यह कोर्स करने के लिये सक्षम हैं। लेकिन इस कोर्स में एडमिशन के लिए आपको स्नातक में 50% से अधिक अंक से उत्तीर्ण होने होंगें तभी आप इस कोर्स के लिये योग्य हो सकेंगें । इसके बाद आप मास्टर्स इन सोशल वर्क (MSW) में सरलतापूर्वक प्रवेश ले सकते हैं।

मास्टर्स इन सोशल वर्क (MSW) में पढ़ाए जाने वाले प्रमुख विषय

सोशल वर्क में मास्टर्स कर रहे छात्रों को सामाजिक दृष्टिकोण से जो प्रमुख विषय पढ़ाए जाते हैं, उन्हें निम्नलिखित रुप से देखा जा सकता है-

  • हिस्ट्री ऑफ सोशल वर्क
  • इंडस्ट्रियल रिलेशन
  • लेबर वेलफेयर
  • चिल्ड्रन वेलफेयर
  • फैमिली वेलफेयर
  • वूमेन वेलफेयर
  • पर्सनल मैनेजमेंट
  • ह्यूमन रिसोर्स मैनेजमेंट
  • मेडिकल सोशल वर्क
  • रूरल डेवलपमेंट
  • अर्बन और सेमी अर्बन डेवलपमेंट
  • स्कूल सोशल वर्क
  • ह्यूमन साइकोलॉजी
  • ट्राइबल एंथोर्पोलॉजी और सोशल वर्क
  • ह्यूमन ग्रोथ एंड डेवलपमेंट

मास्टर्स इन सोशल वर्क (MSW) कोर्स की फीस

MSW course in Hindi के अंतर्गत दी जाने वाली जानकारी के मुताबिक बता दें कि इस कोर्स की एक निश्चित फीस अभी तक हमलोगों के समक्ष ज्ञात नहीं हो पाई है क्योंकि विभिन्न विश्वविद्यालय एवं कॉलेजों में इस कोर्स के लिए अलग-अलग फीस रखी गयी हैं। लेकिन हम आपको अनुमानित तौर पर बता रहें हैं कि मास्टर्स इन सोशल वर्क (MSW) की औसतन वार्षिक फीस 15,000 से 20,000 तक हो सकती है। जो कि विभिन्न कॉलेजों के अनुरूप निर्भर करता है।

मास्टर्स इन सोशल वर्क (MSW) करने की पूरी प्रक्रिया

MSW course in Hindi से संबंधित जिन जानकारियों से हमने आपको अवगत करवाया है, वह आपके लिए लाभदायक ही रही होंगी लेकिन सबसे जरूरी विषय MSW course  करने की प्रक्रिया को लेकर है, जिसके बारे में आप हमारे द्वारा नीचे दी जानकारियों के माध्यम से जानेंगे। कई लोगों को इस कोर्स को करने की बेहद इच्छा होती है परंतु इसकी करने की प्रक्रिया के बारे में ज्ञात नहीं होता है, इन समस्याओं को ध्यान में रखते हुये हमने इसकी भी जानकारी उपलब्ध करवाई है, जो निम्नलिखित रूप में मौजूद है –

यदि आपने बारवीं कक्षा के बाद ही यह सुनिश्चित कर लिया है कि आप अपनी आगे की पढ़ाई सोशल वर्क के साथ ही करना चाहते हैं। तब यह आपके लिये एक बेहतर विकल्प सिद्ध होगा तथा आप अपनी स्नातक की पढ़ाई भी सोशल वर्क के साथ कर सकते हैं। इसके लिए आप बैचलर्स इन सोशल वर्क का कोर्स करें। जिसके बाद आगे आप इसी विषय के साथ मास्टर्स इन सोशल वर्क भी आसानी से कर पाएंगे।

आप उच्चतर शिक्षा प्राप्त कर लेने के बाद भी आप किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से आप बैचलर इन सोशल वर्क के विषय में अपने डिग्री प्राप्त करे। यह कोर्स लगभग तीन वर्ष का होता है , जिसके बाद आपको विश्वविद्यालय द्वारा डिग्री प्राप्त हो जाएगी। इसके बाद आप सरलता से मास्टर्स इन सोशल वर्क में दाखिला पा सकते हैं। इसमें ध्यान रखने योग्य बात यह है कि आपको स्नातक की डिग्री में 50% से अधिक अंकों से उत्तीर्ण होना होगा। तभी आप इस विषय के साथ अपनी आगे की पढ़ाई जारी रख पाएंगे।

स्नातक में 50% अंक प्राप्त करने के बाद आप आसानी से किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से मास्टर्स इन सोशल वर्क में दाखिला प्राप्त कर सकते हैं यह लगभग दो वर्षों का कोर्स होता हैं। जिस में आपके द्वारा अच्छे प्रदर्शन किए जाने पर आपका सीधे ही कॉलेज प्लेसमेंट में ही नौकरी हो जाती है अथवा आपको अलग से नौकरी के लिए आवेदन करना पड़ता है जो कि सरलतम् रूप में ही हो जायेगा ।

मास्टर्स इन सोशल वर्क (MSW course in Hindi ) करने के बाद मिलने वाली नौकरियां

सोशल वर्क में मास्टर्स कर लेने के बाद बेहतर रूप से आपके प्राइवेट और गवर्नमेंट दोनों ही सेक्टर में नौकरियों के लिए मार्ग खुल जाते हैं। इस कोर्स के बाद आपकी नौकरी की संभावनाएं अत्यधिक बढ़ जाती है। इस कोर्स के बाद आप निजी संस्थाओं में भी आवेदन के बाद अच्छी नौकरी प्राप्त कर सकते हैं।

हालांकि इस कोर्स के बाद अधिकतर छात्र सरकारी क्षेत्र में सरकार द्वारा लोगों के लिए चलाई गई स्कीमों के क्षेत्र में कार्य करना पसंद करते हैं। लेकिन इस कोर्स को करने के बाद और भी विभिन्न कंपनियों में आप नौकरियों के लिये आवेदन कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त आप उन अंतरराष्ट्रीय क्षेत्रों की कंपनियों में भी नौकरियों के लिए भी आवेदन कर सकते हैं ,जहाँ इस कोर्स की बहुत अधिक माँग होती है। इन क्षेत्रों में उपलब्ध अन्य नौकरियों की जानकारी भी हम आपको आर्टिकल के माध्यम से दे रहे हैं-

  • क्लिनिक
  • काउंसलिंग सेंटर
  • शिक्षा क्षेत्र
  • विकास कार्य क्षेत्र
  • हॉस्पिटल क्षेत्र
  • सामाजिक सेवा क्षेत्र
  • अंतरराष्ट्रीय सोशल वर्क
  • एचआर डिपार्टमेंट ऑफ इंडस्ट्री
  • ह्यूमन राइट एजेंसी
  • निजी संस्थाएं (एनजीओ)
  • नेचुरल रिसोर्स मैनेजमेंट विभाग

मास्टर्स इन सोशल वर्क (MSW) के बाद मासिक वेतन

मास्टर्स इन सोशल वर्क के बाद आप मासिक 15,000-20,000 रुपए तक पा सकते हैं। यह शुरुआती तौर पर आपको मिलने वाली आय होगी। लेकिन समय के साथ आप के अनुभव के अनुसार आपके वेतन में बढोत्तरी होकर 45,000-50,000 तक भी हो जाएगी। 

कुछ निजी संस्थाओं में आप इसे अधिक सैलरी भी प्राप्त कर सकते हैं। लेकिन यह पूर्ण रूप से आपके अनुभव पर निर्धारित होगा। हालांकि यदि आप इस फील्ड में नए है और आपने कॉलेज के साथ इंटर्नशिप कर रखी है। तो यह आपके लिए काफी फायदेमंद सिद्ध होगा ऐसा करने पर आपकी शुरुआती वेतन ही 25,000 से शुरु होगी।

आज अपने क्या सिखा

हम उम्मीद करते हैं कि यह आर्टिकल आपके लिए फायदेमंद रही होगी क्योंकि यहां हमने MSW course in Hindi,MSW course kya hai के अंतर्गत इस कोर्स से संबंधित सभी जानकारी जैसे MSW course के लिए शैक्षणिक योग्यता, इसमें पढ़ाए जाने वाले प्रमुख विषय, कोर्स की फीस और इस कोर्स को करने के बाद मिलने वाली नौकरियों के बारे में आपको अवगत कराया है। इसी तरह की अन्य जानकारी के लिए जुड़े रहें हमारे साथ ताकि आपको सभी अपडेट समय से मिलते रहें।

इन्हें भी पढ़े:

nv-author-image

Shambhavi Mishra

यह कानपुर, उत्तर प्रदेश की निवासी हैं। इन्होंने हिंदी साहित्य में परास्नातक किया हुआ है। इन्हें शिक्षा, बिज़नस से संबंधित विषयों पर काफी अनुभव है और इन्ही विषयों पर लेख लिखती है। Follow Her On Facebook - Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published.