Skip to content

शेयर मार्किट क्या है और इसमें निवेश कैसे करे? Share Market in Hindi

Share Market In Hindi : “शेयर मार्केट एक गहरे कुवा है जो पूरे देश के पैसे के पियास बुझा सकते है” यह बात तो अपने कही न कही जरूर सुना होगा। मेरे कहने का मतलब यही है कि शेयर मार्केट एक ऐसा जगह है जहाँ लोग बहुत ही कम समय मे अमीर बन सकते है। लेकिन यह बात भी सत्य है कि शेयर मार्केट में आनेवाले लोगो मे से सिर्फ 10% लोग ही पैसा कमा सकते है। बाकी 90% लोग यहाँ पैसा खोते ही है। इसका मुख्य कारण है ज्ञान की कमी। अगर आप एक नए बंदे है और शेयर मार्केट में आने के सोच रहे तो यह पोस्ट आपके लिए बहुत ही मूल्यवान होनेवाले है। इस पोस्ट में हम शेयर मार्केट से जुड़ी सारे तथ्य बतानेवाले है। तो चलिए बिना टाइम गबाये “share market in hindi” के बारे में जानते है। 

share market in hindi

Share Market In Hindi 

शेयर मार्केट या कहे स्टॉक मार्केट एक ऐसे जगह है जहाँ बहुत सारे कंपनी के शेयर लिस्टेड किया जाता है, जिसे लोग खरीद या बेच पाते है। यह वो जगह है जहाँ लोग शेयर के खरीदारी करके या तो बहुत ज्यादा पैसा कमा सकते है वही पैसा गबाने के संभावना भी होते है। इसका मतलब यह नही कि शेयर मार्केट सत्ता मार्किट की तरह है। शेयर मार्केट से पैसा कमाने के लिए बहुत सारे चीज़ों को analysis करना होता है। देखा जाए तो नए लोग हमेशा शेयर मार्केट पर आकर गलती कर देते है और भारी नुकसान के संमोखिन होते है। और वही लोग शेयर मार्केट को सत्ता मार्केट के नाम दे जाते है। वही इस मार्केट जो सूझ-बूझ के साथ प्रॉपर analysis करके काम कर पाते है वो लोग यहाँ काफी ज्यादा पैसा बना पाते है। 

किसी भी कंपनी के शेयर खरीदने के मतलब होते है उस कंपनी के कुछ प्रतिशत हिस्सेदारी को खरीदना। आप जितने ज्यादा के शेयर खरीदते हो उतना ही ज्यादा उस कंपनी के हिस्सेदार बन जाते हो। ऐसे में भविष्य में जब वो कंपनी ग्रो करेगा, मुनाफा कमाएगा, आपके प्रतिशत के हिसाब आपको भी मुनाफा होता रहेगा। वही कंपनी घाटे में जाये तो आपका भी घाटा रहेगा। 

शेयर मार्केट के शेयर के खरीदारी- बचाई डीमेट एकाउंट के जड़िये होते है। यानी कहे तो शेयर के नियंत्रण के लिए डेमेंट एकाउंट के जरूरत पड़ते है। यह डेमेंट एकाउंट क्या है या इसे कैसे बनाये जाते है सारी चीज़ें आर्टिकल पर बताया गया। ध्यान से पढ़ते रहिए। 

शेयर बाजार कैसे काम करते है? 

मान लो कोई एक कंपनी जिसे बड़ा करने हेतु या कोई अन्य कारण के लिए बहुत ज्यादा पैसे के जरूरत पड़ते है तो वे वो पैसे पब्लिक से लेने के सोचते है। और इसीलिए वे अपने शेयर उतरते है जिसे लोग खरीद पाए और कंपनी को जरूरत पूंजी मिल पाए। जिसके बदले लोगो को कंपनी में कुछ हिस्सेदारी दिए जाते है। 

शेयर बाजार में कोई कंपनी निवेश हेतु SEBI, NSE , BSE के साथ रजिस्टर करना होता है। एक बार कंपनी रजिस्टर करने के बाद अपने शेयर निर्धारित प्राइस पर मार्केट में उतर पाते है। जिसे लोगो द्वारा खरीदा जाता है। इन खरीदारी ब्रॉकर के माध्यम से होता है।  

शेयर बाजार से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें 

  • NSE और BSE : यह दोनों भारत के दो बड़े स्टॉक एक्सचेंज कंपनी है जहाँ शेयर के buy, sell होते है। कोई भी कंपनी अपने शेयर को मार्किट में लाने के लिए इन कंपनी के साथ साझा करना होता है। NSE का पूरा नाम National Stock Exchange है जिसकी स्थापना 1992 में किया गया और BSE का पूरा नाम Bombay Stock Exchange है जिसकी स्थापना 1885 में हुयी।
  • Sensex और Nifty : BSE में लगभग 5000 से ज्यादा कंपनी लिस्टेड है जिनमे से चुनिंदा 30 कंपनी के एक ग्रुप बनाया जाता है जिसका नाम दिया जाता है सेंसेक्स। ठीक उसी प्रकार NSE में 1600 से ज्यादा कंपनी लिस्टेड है जिनमे से top50 कंपनी के ग्रुप को नाम दिया जाता है Nifty. और इसे nifty 50 के नाम से भी जाने जाते है। 
  • SEBI : Sebi का पूरा नाम Securities and Exchange Board of India है। यह शेयर मार्केट को रेगुलेट करते है। सेबी की स्थापना शेयर बाजार में निवेश करनेवाले लोगो को धोखाधारी और scam से सुरक्षित के लिए हुआ था। सेवी एक ऐसा संस्था है जो पूरे शेयर बाजार को नियंत्रित करते है।
  • Trading : ट्रेडिंग के मतलब होते है शेयर को buy sell करने के प्रोसेस। कोई व्यक्ति अगर शेयर को खरीदते या बेचते है इसका मतलब हुआ वो ट्रेडिंग करते है।

शेयर मार्केट के निवेश के प्रकार 

अक्शर लोग तीन प्रकार से शेयर मार्केट पर निवेश करते है। 

Intraday : इसमे शेयर एक दिन मे खरीदकर उसी दिन बेचना होता है। यानी कि सुबह के 9:15 के बाद खरीदकर शाम के 3:45 से पहले बेचना होता है। 

Short Time/ Swing Trading : इसमे शेयर खरीदकर को कुछ टाइम के लिए होल्ड किया जाता है।  एक से ज्यादा दिन अगर शेयर को होल्ड किया जाए तो उसे स्विंग ट्रेडिंग कहाँ जाता है। 

Positional Trading/ Investment : इसमे शेयर को long time के लिए खरीदा जाता है। Positional Trading में शेयर को 1 साल, 2 साल या उससे ज्यादा समय तक होल्ड किया जाता है।

शेयर मार्केट में निवेश कैसे करें? 

अभी के समय के बात करें तो हर युवा शेयर मार्केट में आने के सोचते है लेकिन बहुत लोगो को यह लगता है कि कही हम गलत डायरेक्शन में जाकर बड़ा पैसा न गबा दे। अगर आप भी इन्ही कारण के बजह से अभी तक शेयर मार्केट से दूर है तो नीचे आपको कुछ steps बताया गया है जिसे फॉलो कर शेयर मार्केट पर निवेश कर सकते हो और बड़ा नुकसान से भी बच सकते हो। 

#1.Demat/Trading Account : डेमेंट/ट्रेडिंग एकाउंट उसे कहते है जहाँ आपके शेयर स्टोर होकर रहेगा, जहाँ से आप शेयर को buy/sell कर पाए। इंडिया में बहुत सारे ब्रॉकर कंपनी मौजूद है जो low cost में डेमेंट एकाउंट क्रिएट करके देते है। उनमें से आप angel broking, upstox, Zerodha को try कर सकते हो। यह सारे एप्प प्ले स्टोर पर मौजूद है जहाँ से आप डाऊनलोड कर कुछ बेसिक डिटेल्स डालकर डेमेंट एकाउंट को क्रिएट कर सकते हो। 

#2. Basic ज्ञान : डेमेंट एकाउंट खोलने के बाद अगली बाड़ी आते है आपको डेमेंट एकाउंट को यूज़ करना । आपको यह सीखना पड़ेगा कि एप्प के मदत से शेयर को कैसे buy करते है या sell करते है। उसके बाद candle Stick, Stop loss, Indigators जैसे कोई सारे टर्म मिल जाएगा जिसके बेसिक आपको सीखना होगा। 

#3. अपने कैपिटल को मैनेज करना : जैसे आपने सारी चीज़ें सीख ली, अब भारी आते है शेयर मार्केट में इन्वेस्ट करने की इसके लिए आपको अपने capital को मैनेज करना होगा। आपको यह देखना पड़ेगा कि आपके सेविंग कितने है और वहाँ से आप कितने रुपया तक इन्वेस्ट कर पाते हो। 

#4. Risk Management : Risk Management बहुत ज्यादा जरूरी है। आपको कोई भी शेयर खरीदने से पहले per share कितने रिस्क ले सकते हो इसे ध्यान देना पड़ेगा। जिसके लिए आपको शेयर खरीदने के बाद शेयर के exit point और stop loss डिसाइड करना पड़ेगा। इस रिश्क management के ऊपर हम बहुत जोल्ड ही एक नए आर्टिकल लिखने वाले है। 

#5. सही कंपनी पर इन्वेस्ट करना : ऐसे बहुत लोग है जो long time के लिए शेयर मार्केट पर पैसा लगाना चाहता है। तो वैसे लोगो को सबसे पहले सही कंपनी को ढूंढना पड़ेगा। सही कंपनी के पहचान company के fundamental, Net profit या अन्य कोई सारे metrix को देखकर पता लगाया जा सकता है।

शेयर मार्केट पर शेयर में क्यों उतार-चढ़ाव देखने को मिलते है?

शेयर मार्केट में उतार चढ़ाव खास करके दो चीजें पर डिपेंड करते है । पहला है कंपनी के performance और दूसरा है buy/sell के process .  कोई कंपनी में जब buyer increase होते है तो उसके share price भी increase होते जाते है और वही seller increase होते है तो शेयर प्राइस decrease होने लगते है। 

Share market पर अधिकतर लोग पैसे क्यों खोते है? 

अपने भी कोई बार सुना होगा कि “X” नाम के व्यक्ति ने शेयर मार्केट पर 20 लाख गबा दिया। लेकिन ऐसा क्यों होता? और यह बात भी सत्य है कि शेयर मार्केट पर आए हुए ज्यादातर लोग नुकसान ही करते है। Even मेने भी पहले नुकसान ही किया था। 

इसका मुख्य कारण है ज्ञान के कमी। एक नए बंदे बिना किसी जानकारी के अगर शेयर मार्केट पर पैसा लगा देता है तो उसे नुकसान ही उठाना पड़ेगा। 

बड़ा loss के पीछे लोगो के emotion भी जुड़ा होता है। लोग शेयर मार्केट को सट्टे बाजार समझ लेते है और एक loss को recover करने के लिए ज्यादा से ज्यादा पैसा लगाते चलते है और परिणाम स्वरूप नुकसान कर बैठते। 

शेयर मार्केट से पैसे बनाने के लिए सबसे पहले तो आपको शेयर मार्केट को अच्छे से समझना पड़ेगा, initial stage में आपको छोटे capital से स्टार्ट करना होगा। और जैसे जैसे आपको लगेगा अब कमाई हो रहा है तब आप बड़े अमाउंट को इसमे इन्वेस्ट कर सकते हो।

कौनसी सेक्टर के शेयर ज्यादा चलती है? 

देखा जाए तो शेयर मार्केट पर कोई सारे सेक्टर होते है जैसे IT, Pharma, Power और उनमें से कुछ sector के शेयर अच्छा चलते है , कुछ सेक्टर बहुत खराब परफॉर्मेंस देते है। लेकिन यह कहना थोड़ा मुश्किल होगा कि कौनसी सेक्टर के शेयर ज्यादा अच्छा चलती है। यह पूरे डिपेंड करते है समय और मार्किट के ऊपर। 

अपनी पहली शेयर कैसे खरीदे? 

पहले शेयर ढूंढना सबके लिए मुश्किल होता है। मैं अगर अपनी बात करे तो मैने अपनी पहले शेयर SBI को चुना था इसका मुख्य कारण था कि मैं खुद भी SBI का customer था। तो आप अपनी शेयर मार्केट के शुरुवात ऐसे कंपनी से कर सकते हो जो कि आप खुद उपयोग करते हो और आपको लगता हो कि उस कंपनी के प्रोडक्ट में दम है जो आगे बड़ा कुछ कर सकते है। 

शेयर मार्केट पर किन गलतियों को करना महंगा पड़ सकता है? 

शुरुवात में ज्यादा रिस्क लेना : अगर आप शेयर मार्केट में बिल्कुल नए हो और आते ही आप बड़े पैमाने में रिस्क ले लेते हो तो यह गलती आपको महंगा पड़ सकता है। क्योंकि आप उस लोस्स को recover के चक्कर मे बहुत ज्यादा loss कर बैठोगे। 

News/ किसी से सुनकर trade लेना :  कोई सारे न्यूज़ चैनल है जो कि शेयर मार्केट के बारे बताती है और मार्किट को प्रेडिक्शन भी करते हो। तो आपको उन सारे चीज़ों से दूर रहना होगा। चाहे न्यूज़ हो या आपके दोस्तों, किसी के बात सुनकर ट्रेड नही लेना है। आप खुद के analysis खुद करके ट्रेड ले। 

Telegram ग्रुप से दूर रहे : ऐसे कोई सारे telegram ग्रुप है जो कि कुछ अमाउंट के बदले में trade देते है। तो आपको ऐसे ग्रुप को भी avoid करना है। 

आज अपने क्या सीखा?

तो दोस्तों मुझे उम्मीद है शेयर मार्किट क्या और शेयर मार्किट काम कैसे करते है आप जान पाए होंगे । शेयर मार्किट से पैसे बनाना जितना आसान लगता है, उतना आसान भी नहीं होता। शेयर मार्किट से आप पैसा बनाने में तभी सफल हो सकते हो जब इसे टाइम दे सके।

nv-author-image

Suraj Debnath

असम के निवासी सूरज देबनाथ इस ब्लॉग के संस्थापक है। इन्होने विज्ञान शाखा में स्नातक किया हुआ है। इन्हें शेयर मार्किट, टेक्नोलॉजी, ब्लोगिंग ,पैसे कमाए जैसे विषयों का काफी अनुभव है और इन विषयों पर आर्टिकल लिखते आये है। Join Him On Instagram- Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published.