Skip to content

SSC क्या है? SSC की पूरी जानकारी | What is SSC Full Details in Hindi

SSC क्या है,SSC का पूरा नाम,गठन,शैक्षणिक योग्यता,परीक्षाएं, परीक्षा का पैटर्न,एसएससी परीक्षा देने के लिए तैयारी,परीक्षाओं का चरण से जुडी हर जानकारी इस पोस्ट पर मौजूद है । SSC Kya Hai Full Details in Hindi

ssc kya hai

देश में ऐसे कई छात्र-छात्राएं हैं जो सरकारी नौकरी पाने को इच्छुक हैं। आगे का भविष्य सुखमय और आरामदायक हो, इसके लिए अधिकतर लोग सरकारी नौकरी पाना चाहते हैं। यदि कोई अपने सपनों को सरकारी नौकरियों के जरिए साकार करना चाहता है तो उसके लिए एसएससी की परीक्षा बहुत महत्वपूर्ण होता है और साथ ही एक सही विकल्प भी होता है। 

किसी भी परीक्षा को कठिन या सरल कहने के लिए उसकी तैयारी को देखना जरूरी होता है। किसी भी तरह की परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए उसके बारे में जानने के साथ साथ उसकी सही तैयारी करना भी बेहद जरूरी होता है। किसी भी परीक्षा में पास होने के लिए कुछ दिनों की तैयारी पर्याप्त नहीं होती है, उसके लिए कई महीनों या कई वर्षों से तैयारी करनी पड़ती है चाहे वह विधालय में किसी कक्षा की परीक्षा हो या कोई नौकरी पाने वाली प्रतियोगी परीक्षा हो। एसएससी भी सरकारी नौकरी पाने वाली एक तरह की परीक्षा है जो केंद्र सरकार का एक संस्थान है और इसकी सभी परीक्षाएं भी केंद्र सरकार द्वारा ही कराई जाती है।

SSC क्या है? SSC Kya hai in Hindi

SSC Full Form in English- Staff Selection Commission जिसे हिन्दीमे कर्मचारी चयन आयोग कहते है। 

Ssc एक भारत सरकार अधीन बोर्ड है जो कर्मचारियों की चयन करते है और उसे सरकारी नौकरी प्रदान करते है। 

यह कोई तरह के परीक्षा की आयोजित करते है और वहाँ से युग्य प्रार्थी को भारत सरकार के विभिन्न विभाग तथा मंत्रालय के पदों पर निवेश करता है। 

यानी कि आप समझ सकते हो एसएससी कर्मचारी को को चुनने के लिए परीक्षा आयोजित करते है और जो इन परीक्षा में सफल होते है उसे भारत सरकार के अधीन विभागों पर नौकरी उपलब्ध करवाते है।

यह पढ़े: 10th के बाद क्या करे?

SSC का पूरा नाम क्या है? SSC Full Form

SSC का पूरा नाम स्टाफ सिलेक्शन कमीशन (staff selection commission) होता है। SSC को हिन्दी की भाषा में कर्मचारी चयन आयोग भी कहा जाता है। यह भारत का एक ऐसा ऑर्गेनाइजेशन या संस्थान है जो भारत में हो रही सभी स्तर की परीक्षाओं का पूरी तरह से नियंत्रण करता है। सरकारी नौकरियों के सभी परीक्षाओं का गठन केन्द्र सरकार द्वारा एसएससी ही करता है। 

वर्तमान में एसएससी के अध्यक्ष अशीम खुराना है। एसएससी हमारे भारत के सभी प्रसिद्ध सरकारी विभागों में से एक है और यह संस्थान भारत में लाखों छात्रों को हर साल सरकारी नौकरी के रुप में रोजगार प्रदान करता है। भारत में जिन भी छात्रों या अभ्यर्थियों को नौकरी की चाह होती है, उनकी पहली पसंद एसएससी ही होती है।

एसएससी (SSC) का गठन

एसएससी का गठन 4 नवंबर, 1975 को किया गया था। उस समय एसएससी का नाम अधीनस्थ सेवा आयोग रखा गया था। अधीनस्थ सेवा आयोग को अंग्रेजी में subordinate service commission कहते हैं। कुछ सालों बाद यानि 26 नवंबर 1977 को इस अधीनस्थ सेवा आयोग का नाम बदलकर एसएससी अर्थात् स्टाफ सिलेक्शन कमिशन या कर्मचारी चयन आयोग रख दिया गया। भारत की राजधानी दिल्ली में एसएससी का मुख्यालय स्थापित किया गया है। 

भारत सरकार द्वारा नियंत्रित होने वाला यह संस्थान एक भर्ती एजेंसी के रुप में स्थापित है। यह आयोग हर साल पर्याप्त संख्या के अभ्यर्थियों को साथ लेकर परीक्षा में पास हुए लोगों की भर्ती सरकार के किसी विभाग में करवाती है। एसएससी प्रत्येक साल अपना एक कैलेंडर निकालती है जिसमें वह अपने द्वारा ली जा रही सभी तरह की परीक्षा से लेकर उसके नतीजे या परिणाम तक की नोटिफिकेशन और सभी जानकारियां जारी करती है।

एसएससी के लिए शैक्षणिक योग्यता क्या होना चाहिए?

एसएससी द्वारा अभ्यर्थियों को सरकारी विभागों में नौकरी का अवसर मिलता है इसीलिए परीक्षा को पास करने के लिए विद्यार्थियों में शैक्षणिक योग्यताएं होनी चाहिए। एसएससी द्वारा पद और नोटिफिकेशंस की जानकारियां जारी करने से सभी अभ्यार्थीयों को पता चल जाता है कि उसके कौन से पद के लिए कितनी शिक्षा या किस स्तर की शैक्षणिक योग्यता आवश्यक है। 

ऐसा इसीलिए होता है क्योंकि एसएससी में अलग-अलग छोटे और बड़े पदों के लिए अलग-अलग योग्यताएं जरूरी होती है। यह सभी योग्यताएं एसएससी की परीक्षा को पास करने के लिए अलग-अलग स्तर पर अलग-अलग योग्यताएं रखी गई है। इस परीक्षा में बैठने के लिए कम से कम या न्यूनतम उम्र 16 वर्ष की और अधिकतम उम्र 35 वर्ष की मानी जाती है।

एसएससी कौन कौन सी परीक्षाएं आयोजित करवाते है?

एसएससी द्वारा देश भर में विभिन्न तरह की परीक्षाएं आयोजित होती है जिनमें उत्तीर्ण होकर अभ्यार्थी को अलग-अलग सरकारी विभागों के पदों पर नियुक्त कर दिया जाता है। एसएससी द्वारा आयोदित किए जाने वाली परीक्षाएं निम्नलिखित हैं-

  1. एसएससी सीजीएल (SSC CGL)
  2. एसएससी सीएचएसएल (SSC CHSL)
  3. एसएससी स्टेनों (SSC STENO)
  4. एसएससी जीडी (SSC GD)
  5. एसएससी एमटीएस (SSC MTS)
  6. एसएससी सीपीओ (SSC CPO)
  7. एसएससी जेई (SSC JE)
  8. एसएससी जेएसटी (SSC JHT)

CGL ( Combined Graduate Level Examination)

जो विद्यार्थी स्नातक से पास हो चुके हैं वह इस परीक्षा में बैठ सकते हैं। इस परीक्षा को पास करने के बाद विभिन्न पदों पर कार्य किया जा सकता है-

  • इंस्पेक्टर आयकर (Inspector Income Tax)
  • इंस्पेक्टर परीक्षक (Inspector Examiner)
  • सहायक लेखा परीक्षक अधिकारी(Assistant Audit Officer)
  • विदेश मंत्रालय में सहायक (Assistant in Minister of External Affairs)
  • केंद्रीय सतर्कता आयोग में सहायक (Assistant  in Central Vigilance Commission)
  • सहायक परिवर्तन अधिकारी (Assistant Enforcement Officer)
  • इंस्पेक्टर  केंद्रीय उत्पाद शुल्क (Inspector Central Excises)

CHSL (Combined Higher Secondary Level Examination)

यदि कोई विद्यार्थी 12वीं पास(12th Ke Baad Kya Kare) करने के बाद किसी भी जॉब को कर सकता है तो यह सीएचएसएल है। इस परीक्षा को पास करने के बाद विद्यार्थी निम्नलिखित पदों पर नियुक्त हो सकता है-

  • अवर श्रेणी लिपिक(LCD-Lawer Division Clark)
  • तथ्य दाखिला प्रचालक(DEO-Data Entry Operator)
  • डाक सहायक(PA-Postal Assistance)
  • न्यायालय लिपिक(CC-Court Clerk)

Steno

कर्मचारी चयन आयोग विद्यार्थियों के लिए स्टेनोग्राफी यानी आशुलिपि के लिए भी परीक्षा का आयोजन करता है।जो विद्यार्थी आशुलिपि (Stenography) में जाकर अपने भविष्य को बनाना चाहते हैं वह भी एसएससी का एग्जाम दे सकते हैं।

जूनियर इंजीनियर (JE-Junior Engineer)

जूनियर इंजीनियर के पद पर कार्य करने के लिए किसी भी विद्यार्थी को इंजीनियर में डिप्लोमा करना अनिवार्य है। इस परीक्षा को पास करके केंद्रीय सरकार में जूनियर इंजीनियर का काम किया जा सकता है।

CAPE (Central Armed Police Forces)

यदि किसी विद्यार्थी को इंस्पेक्टर या सब इंस्पेक्टर के पद पर कार्य करना है तो उसे केंद्रीय सरकार के सशस्त्र पुलिस बल में यह परीक्षा देना होगा।

JHT (Junior Hindi Translators)

जूनियर हिंदी ट्रांसलेटर के पद पर नियुक्त होने के लिए किसी भी विद्यार्थी को हिंदी और इंग्लिश विषय में पूर्ण ज्ञान होना आवश्यक है। इस परीक्षा को पास करके हिंदी अनुवादक के पद पर नियुक्त किया जाता है। इसमें हिंदी प्राध्यापक, जूनियर ट्रांसलेटर, सीनियर हिंदी ट्रांसलेटर, जूनियर हिंदी ट्रांसलेटर पदों पर नियुक्ति होती है।

MTS (Multi Tasking Staff)

एसएससी एमटीएस की परीक्षा दसवीं पास के बाद दिया जाता है। इस परीक्षा को पास करने के बाद सरकार के विभिन्न पदों जैसे चपरासी ,जूनियर  गेस्टेटनर ऑफिसर, चौकीदार, माली, सफाई कर्मी और दफ्तरी की नियुक्ति होती है।

CPO (Central Police Organisation)

सीपीओ यानी केंद्रीय पुलिस संगठन की परीक्षा को पास करने के लिए स्नातक की पढ़ाई की आवश्यकता होती है। इस परीक्षा को पास करने के बाद आप दिल्ली पुलिस और सी ए पी ई(CAPE) में उप निरीक्षक ,सहायक उप निरीक्षक ,केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल के पद पर नियुक्ति की जा सकती है। ऐसे पदों पर नियुक्ति के लिए ड्राइविंग लाइसेंस जरूरी हो सकता है।

SSC कर्मचारियों की सैलरी?

एसएससी परीक्षा पास करने के बाद सबको अलग-अलग क्षेत्र में नौकरियां प्रदान की जाती है। लोगों को नौकरी किस पद पर किस जगह पर मिली है, इस बात की जानकारी के बाद ही उनकी सैलरी उन्हें दी जाती है। दो बातों को ध्यान में रखा जाता है- पहला कि किस पद पर चुना गया है और दूसरा कि किस शहर में पोस्टिंग दी गई है। इसमें न्यूनतम सैलरी 18 हजार से लेकर अधिकतम सैलरी ढाई लाख तक की होती है।

SSC के कुछ आकर्षक पोस्ट

वैसे तो एसएससी की परीक्षा को पास करना कई विद्यार्थी चाहते हैं लेकिन ऐसे कुछ आकर्षक पद है  जिनको पाना प्रत्येक विद्यार्थियों का सपना होता है-

  1. Assistant audit officer
  2. Income tax officer
  3. CBI sub Inspector
  4. Assistant(MEA)
  5. Preventive Inspector officer
  6. Inspector examiner (CBEC)

एसएससी का 3 शहरों में बंटवारा

एसएससी परीक्षा को पास करने के बाद शहरों को तीन श्रेणियों में बांटा गया है- x, y और z। ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकि छोटे शहर के मुकाबले बड़े शहरों में खर्च ज्यादा होते हैं, इसलिए इसके वेतन में भी अंतर आ जाता है। पदों को x,y और z श्रेणी में खर्च और महंगाई के कारण बांटा गया है।

X city : जिन कर्मचारियों को x सिटी में पोस्टिंग होती है उन्हें अन्य शहरों की तुलना में अधिक सैलरी दी जाती है। इसका तात्पर्य है कि एक ही पद के लिए अलग-अलग शहरों में अलग-अलग सैलरी दी जाती है। अपने भारत में सात ऐसे शहर हैं  जिसको x सिटी के अंतर्गत माना जाता है। इसमें मुंबई, कोलकाता, हैदराबाद ,चेन्नई ,दिल्ली, अहमदाबाद तथा बेंगलुरु शामिल है।

Y city : जिन कर्मचारियों को y city में पोस्टिंग दी जाती है उसको x सिटी की तुलना में थोड़े कम वेतन मिलते हैं। ऐसे शहर हैं जो y श्रेणी में रखे गए हैं ,वह है-भोपाल, सूरत ,इलाहाबाद ,कानपुर, अमृतसर, नागपुर, आगरा, लखनऊ, वाराणसी, वरंगल ,पटना ,फरीदाबाद ,भावनगर ,रायपुर, इंदौर, गुंटुर और गोरखपुर इत्यादि।

Z city : जिन कर्मचारियों को z सिटी में नियुक्त किया जाता है उन्हें xसिटी और yसिटी की तुलना में काफी कम वेतन प्रदान होता है। z सिटी के अंतर्गत भारत के पिछड़े शहर शामिल हैं।

एसएससी परीक्षा का पैटर्न | SSC Exam Pattern

अन्य परीक्षाओं की तरह इस परीक्षा को देने के लिए भी इसके पैटर्न को समझना बहुत जरूरी है। एसएससी परीक्षाओं में ऑब्जेक्टिव टाइप प्रश्न पूछे जाते हैं। इस परीक्षा में गणित, English और reasoning से जुड़े सवालों को पूछा जाता है।कुछ विशेष पदों के लिए statistics तथा General studies(Finance and Economics) से भी सवाल पूछे जाते हैं।

एसएससी परीक्षा देने के लिए तैयारी कैसे करे?

यह परीक्षा देने के लिए अभ्यार्थी को विभिन्न प्रकार से तैयारी करनी चाहिए-

  • परीक्षाओं में वर्तमान में हो रहे काफी घटनाओं का जिक्र किया जाता है लिए इसलिए तत्कालिक ज्ञान(current affairs) के लिए रोज कुछ समय के लिए अखबार पढ़ना जरूरी है।
  • जिस विषय से परीक्षाओं में सवाल पूछे जाएंगे, उस विषय के किताबों को पढ़ना जरूरी है।
  • यह परीक्षा आम लोगों के लिए काफी कठिन होता है इसलिए दिन भर में कम से कम 10 से 12 घंटा पढ़ाई करना आवश्यक है।
  • एसएससी परीक्षाओं में विभिन्न विषयों से सवाल पूछा जाता है इसीलिए सभी विषय को एक साथ पढ़ने से उलझन हो जाता है इसलिए कोशिश करें कि सभी विषयों का अलग-अलग टाइम टेबल बना हो।
  • यदि समय ज्यादा बचे तो कोचिंग क्लासेस में जाना चाहिए तथा ग्रुप स्टडी करना अनिवार्य होना चाहिए जिससे देश में हो रहे निरंतर बदलाव को जान सके।
  • जिस साल एग्जाम दिया जाता है उसके पिछले साल के प्रश्नों को काफी ध्यान से पढ़ना चाहिए और इंटरनेट की सहायता से काफी प्रश्नों का हल भी किया जा सकता है।
  • पूरे सप्ताह पढ़ाई करने के बाद एक दिन खुद का टेस्ट लेना चाहिए ताकि अपनी कमियों को परख सके और उसे सुधार सकें।

एसएससी की परीक्षाओं का चरण

एसएससी की परीक्षा तीन या चार चरणों में होती है। कुछ परीक्षाएं तीन चरणों में होती है और कुछ परीक्षाएं चार चरणों में होती है।

पहले चरण की परीक्षा कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट यानी ऑनलाइन कराई जाती है। यह 60 मिनट की कुल परीक्षा होती है। 200 नंबर की इस परीक्षा में 4 विषयों से 25- 25 प्रश्न पूछे जाते हैं। प्रत्येक प्रश्न के उत्तर के लिए दो नंबर निर्धारित किए जाते हैं। गलत उत्तर देने से इसमें नेगेटिव नंबर का भी प्रावधान किया गया है।

परीक्षा के दूसरे चरण में गणित और अंग्रेजी के सवाल पूछे जाते हैं जिसमें 200 अंक निर्धारित किए गए हैं। इसमें भी 100 सवाल पूछे जाते हैं। यह परीक्षा भी ऑनलाइन ली जाती है।

परीक्षा के तीसरे चरण पेन पेपर परीक्षा कहलाती है जो वर्णनात्मक होती है। इस परीक्षा में पत्र लेखन, एप्लीकेशन, निबंध लेखन आदि विषयों से प्रश्न पूछे जाते हैं और यह परीक्षा ऑफलाइन होती है।

परीक्षा के चौथे और आखिरी चरण में कंप्यूटर के कौशल परीक्षण के लिए विद्यार्थियों से परीक्षा दिलवाया जाता है। इसमें DEST(Data Entry Speed Test) और CPT(Computer Proficiency Test) दो तरह के परीक्षा ली जाती है। इन दोनों परीक्षाओं में अंक नहीं मिलता। यह सिर्फ क्वालीफाइंग प्रकृति के लिए लिया जाता है।

प्रश्न : SSC का पूरा नाम क्या है?

उत्तर : SSC का पूरा नाम Staff Selection Commission है।

प्रश्न : SSC में कौन कौन से एग्जाम होते हैं?

उत्तर : SSC में सीजीएल (CGL), सीएचएसएल (CHSL), स्टेनों (STENO), जीडी (GD), एमटीएस (MTS), सीपीओ (CPO), जेई (JE), जेएसटी (JHT) एग्जाम होते हैं।

प्रश्न : SSC के अंतर्गत आने वाले पोस्ट कौन-कौन से हैं?

उत्तर : SSC के अंतर्गत आने वाले पोस्ट हैं – Assistant audit officer, Income tax officer, CBI sub Inspector, Assistant(MEA), Preventive Inspector officer, Inspector examiner (CBEC)।

Conclusion: Ssc kya hai

उम्मीद है दोस्तों हमारे यह पोस्ट आपको एसएससी के बारे में जानकारी देने में सफल रहे होंगे। 

अगर आपको लगता है इस पोस्ट में कुछ छूट गए हो तो हमे कमेंट करके जरूर बताएं। 

Ssc kya hai के ऊपर लिखा पोस्ट पसंद आये तो पोस्ट को जरूर आपने दोस्तो के साथ शेयर करे। धन्यवाद।।

अन्य पढ़े:

nv-author-image

Suraj Debnath

असम के निवासी सूरज देबनाथ इस ब्लॉग के संस्थापक है। इन्होने विज्ञान शाखा में स्नातक किया हुआ है। इन्हें शेयर मार्किट, टेक्नोलॉजी, ब्लोगिंग ,पैसे कमाए जैसे विषयों का काफी अनुभव है और इन विषयों पर आर्टिकल लिखते आये है। Join Him On Instagram- Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published.