Skip to content

स्टेनोग्राफर(Stenographer) क्या होता है, कैसे बने पुरे जानकारी

स्टेनोग्राफर क्या होता है, क्या काम करता है , स्टेनोग्राफर कैसे बने, युग्यता क्या होना चाहिए, स्टेनोग्राफर के तयारी कैसे करे,Stenographer in Hindi Full details

Stenographer kya hai kaise bane

किसी भी सरकारी विभाग में एक Stenographer की जरूरत होती ही है और यह काम बड़ा ही आसान होता है। इसीलिए आप इसमें थोड़ी मेहनत करके Stenographer की एक अच्छी सरकारी नौकरी पा सकते हैं। Stenography एक तरह की short hand या codding भाषा होती है, जिसमें किसी भी भाषण या बोली गई बातों को छोटा करके लिखने के तरीके बताए जाते हैं। इसी स्टेनोग्राफी भाषा का इस्तेमाल करके काम करने वाले व्यक्ति को Stenographer कहा जाता है। SSC यानि कर्मचारी चुनाव आयोग द्वारा सभी सरकारी विभागों में एक Stenographer की नियुक्ति की जाती है।

Stenographer किसे कहते हैं?

Stenographer वैसे व्यक्ति को कहते हैं, जो किसी अन्य व्यक्ति द्वारा दिए गए भाषण या बातों को कम समय और अधिक गति के साथ उसी प्रकार अपनी कोडिंग या शॉर्ट हैंड की भाषा में लिख सके। किसी भी कोर्ट, संस्था या सरकारी विभाग, समाचार पत्रिका में एक Stenographer वहां बोली गई हर बात को किसी typewriter या अपने हाथों की मदद से तेज़ी के साथ लिखता है।

Stenographer बनने के लिए किन योग्यताओं की जरूरत होती है?

Stenographer का पद एक सरकारी पद होता है और इसमें आपको कुछ योग्यताओं की जरूरत भी पड़ती है, जिसके आधार पर आप Stenographer की परीक्षा देकर इस पद पर अपनी नियुक्ति पा सकते हैं। Stenographer बनने के लिए जिन योग्यताएं का होना अत्यंत आवश्यक है, वो कुछ इस प्रकार से है –

  • जो व्यक्ति Stenographer बनना चाहते हैं, उन्हें एक मान्य संस्था (recognized institution) के किसी भी विभाग से स्नातक में किसी विषय से उत्तीर्ण होना आवश्यक है। 
  • इसके अलावा Stenographer बनने के लिए या स्टेनोग्राफी सीखने के लिए किसी भी व्यक्ति को इंटर मीडिएट यानि बारहवीं की कक्षा में अपनी मनचाही विषय के साथ उत्तीर्ण होना होगा।

Stenographer कैसे बना जा सकता है? How to become a Stenographer?

Stenographer बनने के लिए आपको परीक्षा से पहले भी दो चरणों में तैयारी करनी पड़ेगी। इन तैयारियों की मदद से परीक्षा और टाइपिंग टेस्ट दोनों में ही काफी मदद मिलती है, यानी की यह preparation आपको आगे के लिए सक्षम बनाता है।

इसके पहले चरण में आपको टाइपिंग या स्टेनो टाइपिंग सीखना पड़ेगा, जो किसी भी आई टी आई(ITI) या पॉलीटेक्निक संस्थान में प्रवेश लेकर सीख सकते हैं। इसके साथ ही सरकारी मान्य संस्था में भी typing सीख सकते हैं।

इसके दूसरे चरण में आपको अपनी टाइपिंग की गति fast करने के लिए सिखने की जरूरत होती है। Stenographer बनने के लिए आपको Hindi और English भाषा में एक मिनट में करीब 80 शब्द टाइप करने की गति अपनानी पड़ेगी। टाइपिंग की यह गति Stenographer बनने में काफी बड़ी भूमिका निभाती है।

Stenographer बनने की उम्र सीमा कितनी निर्धारित होती है?

Stenographer बनने के लिए एक व्यक्ति की आयु सीमा कम से कम 18 साल होनी चाहिए और अधिकत्तम आयु 30 साल निर्धारित होती है। इस आयु सीमा के बीच में candidates कभी भी Stenographer की परीक्षा दे सकते हैं।

Stenographer की तनख्वाह कितनी होती है?

Stenographer एक सरकारी पद होता है इसीलिए इसकी सैलरी भी काफी अच्छी होती है। Stenographer में दो तरह की Grade होती है, जिसमें पहले ग्रेड यानि Grade-C में एक स्टेनोग्राफर को करीब 9,000 से लेकर 38,000 तक की सैलरी मिलती है और Grade-D वालों को करीब 5,000 से 20,000 तक की सैलरी मिलती है।

Stenographer बनने की तैयारी कैसे करें?

Stenographer बनने के लिए आपको SSC द्वारा आयोजन की गई परीक्षा में उत्तीर्ण होना पड़ेगा, जिसके लिए आपको इस SSC के परीक्षा की सभी पाठ्यक्रम और उसके तरीके को अच्छे से समझने की जरूरत पड़ती है। कर्मचारी चुनाव आयोग(SSC) द्वारा निर्धारित पाठ्यक्रम को अच्छे से समझकर और उसका अध्ययन कर कोई भी आसानी से Stenographer की परीक्षा दे सकते हैं।

इन सभी पाठ्यक्रम और विषय को पढ़ने और सही अध्ययन के बाद परीक्षा में उत्तीर्ण होने पर आपका एक test लिया जाता है, जिसमें आपसे कुछ निर्धारित समय में कई शब्द और वाक्यों को typing कराया जाता है। इसमें आपकी टाइपिंग गति अगर तेज है तो आप यह टेस्ट आसानी से पास कर सकते हैं। इस टेस्ट में उत्तीर्ण होने पर आपको Stenographer पद पर नियुक्त कर लिया जाता है।

अगर आप Stenographer के लिए थोड़ी और अच्छी तैयारी करना चाहते हैं, तो इसके लिए पिछले साल के प्रश्नों को हल करें और यह प्रश्न आपको आसानी से बाजार में मिल जाएंगे। उन प्रश्नों को हल करने के बाद आपको सभी विषयों और परीक्षा के पैटर्न की सही जानकारी हो जाएगी।

अपने रोजाना के रूटिंग में news reading को शामिल करें, जिससे कि आपकी रीडिंग स्पीड अधिक fast हो। इसके अलावा आप lucent general knowledge की पुस्तक तथा प्रतियोगिता दर्पण से भी तैयारी कर सकते हैं। साथ ही आपस में group discussion करके तथा text series का इस्तेमाल कर, इस परीक्षा में अपना बेहतर प्रदर्शन देकर high score कर सकते हैं।

Stenographer के पाठ्यक्रम क्या-क्या हैं? What are the Stenographer Syllabus?

कर्मचारी चुनाव आयोग(SSC) द्वारा Stenographer की परीक्षा ली जाती है और यह आयोग हर साल एक ही पाठ्यक्रम पर आधारित question Stenographer की परीक्षा में पूछता है। Stenographer की परीक्षा में reasoning, general knowledge, English और comprehension के साथ- साथ सामान्य जागरूकता जैसे विषय से सभी सवाल आते हैं। इन सभी विषयों के लिए आपको market में आसानी से किताबें मिल जाएगी।

Stenographer की परीक्षा कैसे होती है?

जैसा कि हमने पहले ही बताया Stenographer की परीक्षा कर्मचारी चुनाव आयोग द्वारा आयोजित करवाई जाती है। जिसमें आपको एक लिखित और एक टाइपिंग परीक्षा देनी पड़ती है। इस लिखित परीक्षा में आप स्टेनोग्राफी के डिप्लोमा और स्नातक की डिग्री के साथ बैठ सकते है। इस लिखित परीक्षा में निर्धारित पाठ्यक्रम के सवाल पूछे जाते हैं, जिसमें अंग्रेजी, सामान्य ज्ञान, रीजनिंग और सामान्य जागरूकता के सभी विषयों से 50-50 प्रश्न पूछे जाते हैं। उन सभी 200 प्रश्नों के लिए आपको केवल 120 मिनट का समय मिलता है तथा जो विकलांग है उन व्यक्तियों को 160 मिनट अर्थात् 40 मिनट extra मिलते हैं। 

इस लिखित परिक्षा में उत्तीर्ण होने पर आपकी एक टाइपिंग परीक्षा होती है, जिसमें अभ्यार्थी को हर मिनट में अंग्रेजी और हिंदी की भाषा के करीब 100 शब्दों की टाइपिंग कराई जाती है। जो इस टाइपिंग टेस्ट में कम समय में अधिक शब्द टाइप करता है, उसे इस पद के लिए नियुक्त किया जाता है।

एक बात का ध्यान अवश्य रखें इस exam में नेगेटिव मार्किंग भी होती है, अगर एक भी प्रश्न का गलत उत्तर देते हैं तो आपका 0.25 काट लिया जाता है। इसलिए इस परीक्षा को बहुत ही ध्यानपूर्वक और समझदारी से दे।

यह भी पढ़े:

FAQs :-

Q:-Stenographer की नियुक्ति कौन करता है?

Ans: भारत के कर्मचारी चुनाव आयोग(SSC) द्वारा Stenographer पद के लिए योग्य candidates को नियुक्त किया जाता है।

Q:- Stenographer क्या काम करता है?

Ans: Stenographer का अधिकतर काम typing ही होता है।

Q:- Stenographer बनने के लिए टाइपिंग कितने दिन में सीखा जा सकता है?

Ans: यूं तो टाइपिंग कई लोग आसानी से सीख जाते हैं, लेकिन कोई भी व्यक्ति अगर दो – तीन महीने अच्छे से टाइपिंग का अध्ययन करे तो वह स्टेनो टाइपिंग सीख सकता है।

nv-author-image

Shambhavi Mishra

यह कानपुर, उत्तर प्रदेश की निवासी हैं। इन्होंने हिंदी साहित्य में परास्नातक किया हुआ है। इन्हें शिक्षा, बिज़नस से संबंधित विषयों पर काफी अनुभव है और इन्ही विषयों पर लेख लिखती है। Follow Her On Facebook - Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published.